रेल यात्री ध्यान देंः बेगूसराय स्टेशन पर नहीं रुकेगी गरीब नवाज एक्सप्रेस, इस तिथि से आरक्षण बंद

लखमीनिया में रुकने वाली 15279 एवं 15280 पूरविया एक्सप्रेस में भी आरक्षण बंद कर दिया गया है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की नेतृत्व वाली भारत सरकार बिहार की औद्योगिक राजधानी बेगूसराय के सर्वांगीण विकास के लिए लगातार प्रयास कर रही है। लेकिन सारी कवायद के बावजूद रेलवे द्वारा बिहार के प्रमुख आर्थिक शहर बेगूसराय के साथ भेदभाव किया जा रहा है।

बेगूसराय के लोग लंबे समय से सीटी बजाते हुए बेगूसराय स्टेशन से थ्रू गुजरने वाले एक्सप्रेस ट्रेनों के ठहराव की मांग कर रहे हैं। ठहराव की मांग करने वालों को उम्मीद रहती है कि जल्द ही रेलवे इसके लिए प्रक्रिया करेगा। लेकिन हालत यह है कि ठहराव दिए गए महत्वपूर्ण ट्रेनों का ठहराव भी बंद किया जा रहा है। राज्यसभा सदस्य प्रो. राकेश सिन्हा द्वारा रेलवे बोर्ड से लेकर रेल मंत्रालय तक का चक्कर लगाकर रोका गया गरीब नवाज एक्सप्रेस अब बेगूसराय स्टेशन पर रुकने के बदलने सीटी बजाते हुए गुजर जाएगी।

छह मार्च को रेलवे द्वारा अगले छह महीने के लिए आप एवं डाउन में किशनगंज-अजमेर शरीफ गरीब नवाज एक्सप्रेस ठहराव बेगूसराय में दिया गया था। ठहराव मिलते ही इस ट्रेन में टिकट की जबरदस्त बिक्री हुई, हिंदू एवं मुस्लिम दोनों समुदाय के लोगों को अपने महत्वपूर्ण धार्मिक स्थल अयोध्या एवं अजमेर शरीफ जाने में काफी सहूलियत मिलने लगी। लेकिन छह महीना पूरा होते ही बुकिंग बंद कर दी गई है। किशनगंज से अजमेर शरीफ जाने वाली गाड़ी संख्या-15715 में आरक्षण छह सितम्बर से बंद कर दिया गया है, डाउन में गाड़ी संख्या-15716 में आठ सितम्बर से आरक्षण बंद कर दिया गया है।

राकेश सिन्हा के प्रयास से ही लखमीनिया में रुकने वाली 15279 एवं 15280 पूरविया एक्सप्रेस में भी आरक्षण बंद कर दिया गया है। डीआरयूसीसी सोनपुर रेल मंडल के सदस्य शंभू कुमार ने बताया कि यात्रियों के डिमांड एवं सुविधा के मद्देनजर दोनों ट्रेन के ठहराव के लिए डीआरएम सोनपुर एवं पूर्व मध्य रेलवे हाजीपुर के जीएम को लिखा गया है। सांसद राकेश सिन्हा को भी मामले से अवगत कराया गया है, जल्द ही रेलवे बोर्ड के अधिकारियों से मिलकर दोनों ट्रेन का स्थाई ठहराव सुनिश्चित करते हुए आरक्षण की सुविधा बहाल कराने का प्रयास किया जाएगा।

रेल यात्री संघ के मुकेश विक्रम एवं रामसेवक स्वामी ने बताया कि 15715 एवं 15716 गरीबनवाज त्रैसाप्ताहिक एक्सप्रेस में बेगूसराय स्टेशन से तथा 15279 एवं 15280 पूरविया एक्सप्रेस में बंद बुकिंग की समस्या का समाधान रेलवे बोर्ड नई दिल्ली से हल होगा। यात्रियों की संख्या राजस्व के मद्देनजर अधिकारियों को इस पर ध्यान देना चाहिए, लेकिन किसी का भी ध्यान नहीं जा रहा है। हम अन्य ट्रेनों के ठहराव की मांग कर रहे हैं और यहां ठहराव दिए गए गाड़ियों का भी ठहराव कैंसिल किया जा रहा है।

गरीब नवाज एक्सप्रेस का स्थाई रूप से बेगूसराय में ठहराव देने के साथ-साथ यहां से थ्रू गुजरने वाली कामाख्या-गांधीधाम साप्ताहिक एक्सप्रेस, गुवाहाटी-बाड़मेर एक्सप्रेस, गुवाहाटी-बीकानेर एक्सप्रेस एवं ओखा-गुवाहाटी एक्सप्रेस बेगूसराय में ठहराव होना चाहिए। इसके साथ ही 16 घंटा 35 मिनट में बेगूसराय स्टेशन से बिना रुके नई दिल्ली आने-जाने वाली ट्रेनों का ठहराव जरूरी है। बेगूसराय में से 22 घंटे में नई दिल्ली पहुंचने वाली राजधानी एक्सप्रेस का ठहराव दिया गया है।

लेकिन मात्र 16 घंटे में दिल्ली पहुंचाने वाली 22449 एवं 22450 गुवाहाटी-नई दिल्ली पूर्वोत्तर संपर्कक्रांति द्वि-साप्ताहिक, 14037 एवं 14038 सिलचर-नई दिल्ली साप्ताहिक पूर्वोत्तर संपर्क क्रांति एक्सप्रेस तथा 14619 एवं 14620 अगरतला-नई दिल्ली-फिरोजपुर कैंट साप्ताहिक एक्सप्रेस का ठहराव बेगूसराय में दे दिया जाए तो यात्रियों को काफी सहूलियत होगी।

रेल यात्री संघ का कहना है कि एक बार फिर देश स्तर पर चर्चित हो रहा है। यहां बिहार का एकलौता इंडियन ऑयल बरौनी रिफाइनरी है, एनटीपीसी है, बिहार के एकलौते खाद कारखाना का पुनर्निर्माण हो रहा है। इस तीनों तीनों औद्योगिक संस्थान में देश के विभिन्न राज्यों के लोग काम करते हैं तथा उनके परिजनों का आना-जाना लगा ही रहता है। ऐसे में अगर इस रूट की सभी ट्रेनों का ठहराव बेगूसराय स्टेशन पर नहीं होने से आने वाले लोगों को काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here