Gandhinagar: वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में एक ही दिन में 1.56 लाख करोड़ के संभावित निवेश, जानिये कितने एमओयू पर हुए हस्ताक्षर

20 दिसंबर को किए गए एमओयू के अंतर्गत मुख्य क्षेत्रों में से इंजीनियरिंग, ऑटो तथा अन्य इंडस्ट्रीज क्षेत्र में 50,450 करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश के साथ 9710 रोजगार का सृजन होगा।

1335

Gandhinagar: आगामी 10 से 12 जनवरी-2024 में आयोजित होने वाले 10वीं वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट(10th Vibrant Gujarat Global Summit) के प्रारंभ से पहले 20 दिसंबर को विभिन्न उद्योग समूहों के साथ 47 एमओयू किए गए(47 MoUs signed with various industry groups) हैं। मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल(Chief Minister Bhupendra Patel) की मौजूदगी में विभिन्न उद्योग निवेशकों ने 20 दिसंबर को एक ही दिन राज्य सरकार के साथ 1.56 लाख करोड़ रुपये से अधिक के संभावित निवेश के लिए एमओयू किए हैं। इसके साथ ही, इस निवेश से गुजरात में लगभग 7.59 लाख से अधिक रोजगार का सृजन होने की संभावना है।

राज्य सरकार ने हर सप्ताह विभिन्न उद्योगों के साथ एमओयू करने का जो सिलसिला शुरू किया है, उसमें अब तक आयोजित एमओयू हस्ताक्षर की 14 श्रृंखलाओं में 100 एमओयू के साथ 1.35 लाख करोड़ रुपये का संभावित निवेश प्रस्तावित है। इसके अतिरिक्त 20 दिसंबर को आयोजित 15वीं श्रृंखला में 47 एमओयू के साथ 1.56 लाख करोड़ रुपये से अधिक का संभावित निवेश प्रस्तावित है। इस प्रकार, अब तक कुल 147 एमओयू के साथ 2.91 लाख करोड़ रुपये से अधिक का संभावित निवेश प्रस्तावित हुआ है।

कई सेक्टर में निवेश को इच्छुक निवेशक
20 दिसंबर को किए गए एमओयू के अंतर्गत मुख्य क्षेत्रों में से इंजीनियरिंग, ऑटो तथा अन्य इंडस्ट्रीज क्षेत्र में 50,450 करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश के साथ 9710 रोजगार का सृजन होगा। औद्योगिक पार्क, टेक्सटाइल एवं एपेरल क्षेत्र में 2900 करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश के साथ 1.52 लाख रोजगार का सृजन, फाइनेंशियल सर्विसेज क्षेत्र में 50,500 करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश के साथ 5.50 लाख रोजगार का सृजन, मिनरल आधारित प्रोजेक्ट्स क्षेत्र में 9645 करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश के साथ 2895 रोजगार का सृजन, साइंस एंड टेक्नोलॉजी क्षेत्र में 22824 करोड़ रुपये से अधिक के अनुमानित निवेश के साथ 41430 रोजगार का सृजन, हेल्थकेयर तथा फार्मास्युकिल क्षेत्र में 11022 करोड़ रुपये से अधिक के अनुमानित निवेश के साथ 6200 रोजगार का सृजन तथा एग्रो एंड फूड प्रोसेसिंग क्षेत्र में 800 करोड़ रुपये के अनुमानित निवेश के साथ 800 रोजगार का सृजन होगा।

Bihar में जंगलराज 2-0? भाजपा ने मुख्यमंत्री से की यह मांग

विभिन्न जिलों में शुरू होंगे उद्योग
वित्त मंत्री कनुभाई देसाई, स्वास्थ्य मंत्री ऋषिकेश पटेल, उद्योग मंत्री बलवंत सिंह राजपूत, कृषि मंत्री राघवजी पटेल और पर्यटन मंत्री मुलुभाई बेरा की उपस्थिति में हुए एमओयू के अंतर्गत उद्योग अपनी इकाइयां 2023 से 2028 के बीच कार्यरत करेंगे। कच्छ, भरूच, खेडा, अहमदाबाद, मेहसाणा, अमरेली, वडोदरा, सूरत, पंचमहाल, साणंद, गांधीनगर, डांग, नवसारी तथा राजकोट सहित विभिन्न जिलों के क्षेत्रों में ये उद्योग शुरू होंगे।

इस एमओयू हस्ताक्षर अवसर पर राज्य के मुख्य सचिव राज कुमार, उद्योग विभाग के अपर मुख्य सचिव एस. जे. हैदर सहित वरिष्ठ सचिव और उद्यमी उपस्थित रहे।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.