आम मुंबईकरों को लोकल में यात्रा करने की कब मिलेगी अनुमति? जानने के लिए पढ़ें ये खबर

देश में कोरोना की दूसरी लहर अभी भी जारी है। देश के बाकी हिस्सों की तुलना में महाराष्ट्र में प्रकोप की दर केरल को छोड़कर सबसे ज्यादा है। इस बीच, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने तीसरी लहर की चेतावनी दी है।

पिछले कुछ दिनों से कोरोना महामारी के कारण जनता के लिए बंद की गई लोकल ट्रेन के फिर से शुरू किए जाने की चर्चा थी। ऐसा समझा जा रहा था कि प्रदेश की कैबिनेट की बैठक में इस बारे में निर्णय लिया जाएगा। हालांकि, 14 जुलाई को राज्य कैबिनेट की बैठक में पाबंदियों में ढील पर कोई निर्णय नहीं लिया गया और अब एक बार फिर आम मुंबईकरों को लोकल ट्रेन में यात्रा करने के लिए इंतजार करना पड़ेगा।

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य कैबिनेट की बैठक में कोरोना के नियमों में कोई ढील नहीं दी जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य में हर दिन 7,000 से 9,000 कोरोना मरीज मिल रहे हैं, इसलिए पाबंदियों में ढील नहीं दी गई है।

बाहर से आने वालों के लिए बड़ा निर्णय
राजेश टोपे ने कहा कि ठाकरे सरकार ने राज्य के बाहर से महाराष्ट्र में आने वाले नागरिकों के लिए महत्वपूर्ण निर्णय लिया है। अब से जिन लोगों ने वैक्सीन की दो खुराक ली है, उन्हें राज्य में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी। इससे पहले महाराष्ट्र आने वालों से आरटीपीसीआर सर्टिफिकेट मांगे जाते थे। हालांकि, अब से केवल वही लोग महाराष्ट्र में एंटर कर पाएंगे, जिन्होंने कोरोना के दोनों टीके ले लिए हैं और जिनके पास उसका प्रमाण मौजूद है।

ये भी पढ़ेंः पवार ने किया राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार बनने से इनकार! कही ये बात

नियम में कोई बदलाव नहीं
देश में कोरोना की दूसरी लहर अभी भी जारी है। इस बीच, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने तीसरी लहर की चेतावनी दी है। देश के बाकी हिस्सों की तुलना में महाराष्ट्र में प्रकोप की दर केरल को छोड़कर सबसे ज्यादा है। इसे देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री टोपे ने स्पष्ट किया कि कोरोना के खतरे को देखते हुए राज्य में इसके नियमों में कोई ढील नहीं दी जाएगी। उन्होंने बताया कि दुकानों और यात्रा के नियमों में कोई बदलाव नहीं होगा।

अगस्त में उपलब्ध होंगे 4 करोड़ टीकेस्वा
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि हम राज्य में ज्यादा से ज्यादा लोगों को टीका लगाने पर ध्यान दे रहे हैं। सबसे ज्यादा मरीज राज्य के 10 जिलों में हैं। बाकी 26 जिलों में मरीजों की संख्या कम है। रत्नागिरी, सिंधुदुर्ग, कोल्हापुर, सांगली, सतारा और नगर में मरीजों की संख्या बढ़ रही है। राज्य सरकार केंद्र सरकार से अधिक से अधिक संख्या में वैक्सीन प्राप्त करने का प्रयास कर रही है। टोपे ने यह कहा कि अगस्त में 4 करोड़ टीके उपलब्ध होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here