Ayodhya : राममंदिर प्राण प्रतिष्ठा में आरएसएस सरसंघचालक डा. भागवत सहित शामिल होंगी ये हस्तियां

राम मंदिर ट्रस्ट की तरफ से चार प्रतिनिधि मंडलों के दल ने रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के लिए प्रधानमंत्री मोदी से उनके आवास पर शिष्टाचार मुलाकात कर आमंत्रित किया।

66
RSS Chief Mohan Bhagwat
आरएसएस प्रमुख भागवत

श्रीरामजन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महामंत्री चंपत राय ने 26 अक्टूबर को कारसेवकपुरम में प्रेस वार्ता कर श्री राम लला के भव्य एवं दिव्य मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा की तारीख 22 जनवरी घोषित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने निमंत्रण स्वीकार किया है । प्रतिष्ठा पूजन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत भी पूजन में शामिल होंगे । उन्होंने बताया कि समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल प्रोटोकाल शिष्टाचार के तहत प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होंगे।

पूजा पद्धति में शामिल होंगे 4000 सन्त 
चंपत राय ने बताया कि कल राम मंदिर ट्रस्ट की तरफ से चार प्रतिनिधि मंडलों के दल ने रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के लिए प्रधानमंत्री मोदी से उनके आवास पर शिष्टाचार मुलाकात कर आमंत्रित किया। चम्पत राय ने बताया कि देश के सभी पूजा पद्धति के 4000 सन्त प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होंगे। सन्त समाज से हटकर विभिन्न क्षेत्रों से 2500 लोग जैसे वैज्ञानिक, कलाकर, परमवीर चक्र से सम्मानित परिवारों, शहीद कारसेवको के परिवारों को भी आमंत्रित किया जाएगा ।

आधारकार्ड लाना जरुरी
उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि परिसर में अंदर में बैठने की सीमा तय है। प्राण प्रतिष्ठा में आमंत्रित मेहमानों को अनिवार्य रूप से आधारकार्ड लाना आवश्यक होगा । प्राण प्रतिष्ठा का पूजन वाराणसी के विद्वान पंडित लक्ष्मी कांत दीक्षित सम्पन्न करायेंगे। 22 जनवरी को दोपहर 12:00 बजे से 12:45 के बीच प्राण प्रतिष्ठा संपन्न होगी। राम भक्त प्रतिष्ठा के अगले दिन से रामलाल का दर्शन कर सकेंगे।

16 जनवरी से शुरू होगा कार्यक्रम
उन्होंने कहा कि सम्भवतः 16 जनवरी से प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम शुरू होगा। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री के पूजन के बाद ही आमंत्रित मेहमानों को रामलाल का दर्शन मिल सकेगा । लगभग 3 घंटे से ज्यादा राम जन्मभूमि परिसर में बैठना पड़ेगा।

Basti: दुर्गा पूजा पंडाल में पांच लोगों ने दिखाया था काला झंडा, अब भुगतेंगे किए की सजा

मीडिया हाउस के मालिक भी किए जाएंगे आमंत्रित
वयोवृद्ध और अस्वस्थ मेहमानों से ट्रस्ट ने अपील किया कि प्रतिष्ठा के बाद दर्शनार्थ आए। राम मंदिर आंदोलन में अहम भूमिका निभाने वाले स्वर्गीय व्यक्तियों के परिजनों को भी प्रतिष्ठा के लिए आमंत्रित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 100 से ज्यादा प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के मालिकों को भी प्रतिष्ठा में आमंत्रित किया जाएगा ।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.