Madhya Pradesh: भोजशाला का एएसआई सर्वे दूसरे दिन भी जारी, जानिये सुरक्षा का कैसा है प्रबंध

भोजशाला में सर्वे को लेकर पुलिस ने एक विशेष मॉनीटरिंग टीम बनाई है, जो केवल सोशल मीडिया पर ही अपनी नजर बनाए हुए हैं।

97

Madhya Pradesh उच्च न्यायालय की इंदौर खंडपीठ(Indore Bench) के आदेश पर धार जिला मुख्यालय स्थित ऐतिहासिक भोजशाला(Historical banquet hall located at Dhar district headquarters) का ज्ञानवापी की तरह भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI survey) दूसरे दिन 23 मार्च को भी जारी है। एएसआई के दिल्ली और भोपाल के अधिकारियों की टीम(Team of ASI officers from Delhi and Bhopal) सर्वे कर रही है। एएसआई के वकील हिमांशु जोशी, हिंदू पक्ष की ओर से आशीष गोयल और गोपाल शर्मा तथा कमाल मौलाना वेलफेयर सोसाइटी के समद खान भी सर्वे टीम के साथ भोजशाला में मौजूद हैं। भोजशाला में पर्यटकों के प्रवेश पर रोक(Ban on entry of tourists) लगा दी गई है।

सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध
23 मार्च की सुबह एएसआई टीम सर्वे करने के लिए भोजशाला पहुंची और साइंटिफिक तरीके से जांच शुरू की। परिसर के अंदर और बाहर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम(Strong security arrangements) किए गए हैं। भोजशाला में एएसपी डॉ. इंद्रजीत बाकलवार, सीएसपी, तीन डीएसपी, आठ थाना प्रभारी सहित 175 पुलिस जवान तैनात किए गए हैं। इसके अलावा शहर की ऊंची बिल्डिंगों पर भी पुलिस की तैनात की गई है। साथ ही 60 कैमरों की मदद से भी क्षेत्र की निगरानी की जा रही है। परिसर में खुदाई करने वाले मजदूरों को भी जांच के बाद प्रवेश दिया गया। इस दौरान मोबाइल और अन्य गैजेट वस्तु बाहर ही जमा करवाए गए।

पुलिस ने बनाई है विशेष मॉनीटरिंग टीम
खास बात यह है कि भोजशाला में सर्वे को लेकर पुलिस ने एक विशेष मॉनीटरिंग टीम बनाई है, जो केवल सोशल मीडिया पर ही अपनी नजर बनाए हुए हैं। भोजशाला से संबंधित अगर कोई भी भड़काऊ मैसेज आता है, पुलिस संबंधित के खिलाफ तुरंत एक्शन लेकर कार्रवाई करेगी।

Excise Policy Scam: केजरीवाल की गिरफ्तारी पर जर्मन विदेश मंत्रालय की टिप्पणी, भारत ने दी ये सलाह

दोबारा सर्वे की जरुरत नहींः मुस्लिम पक्षकार
23 मार्च को भोजशाला पहुंचे मुस्लिम पक्षकार और मौलाना कमालउद्दीन वेलफेयर सोसाइटी के अध्यक्ष अब्दुल समद ने कहा कि 22 मार्च को तबीयत खराब होने की वजह से वह सर्वे के दौरान नहीं शामिल हो सके। उन्होंने कहा कि पहले भी सर्वे हो चुका है और अब दोबारा सर्वे की जरूरत नहीं है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.