श्रीनगर में चार आतंकी गिरफ्तार! जानिये, किस खतरनाक संगठन से जुड़े हैं तार

श्रीनगर मे टीआरएफ के चार आतंकियों को दबोच लिया गया है। गुप्त सूचना के आधार पर यह कार्रवाई की गई।

सुरक्षाबलों ने 10 मई को आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के हिट स्वकाड कहे जाने वाले टीआरएफ के चार आतंकियों को गिरफ्तार किया है। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के कब्जे से हथियार व गोला बारूद भी बरामद किया है।

गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई
जानकारी के अनुसार श्रीनगर के बेमिना क्षेत्र में आतंकवादियों की मौजूदगी के बारे में एक विशेष सूचना मिली थी। इस पर पुलिस स्टेशन श्रीनगर, सेना की 2आरआर और बेमिना पुलिस की एक संयुक्त टीम ने बेमिना क्रॉसिंग पर एक विशेष नाका लगाया। नाका पर वाहनों की चेकिंग के दौरान दो लोगों पर सुरक्षाबलों को संदेह हुआ। सुरक्षाबलों ने दोनों को रुकने के लिए कहा लेकिन दोनों ने मौके से भागने का प्रयास किया। नाके पर तैनात सतर्क जवानों ने कुछ ही दूरी पर दोनों को पकड़ लिया।

ये भी पढ़ें – लखनऊ-आनंदविहार डबल डेकर ट्रेन फिर से शुरू! जानें, पूरा टाइम टेबल

खतरनाक हथियार बरामद
पूछताछ के दौरान दोनों ने अपनी पहचान तवूस रसूल गड़ा पुत्र गुलाम रसूल गड़ा और सलीम जान भट पुत्र मोहम्मद अशरफ भट निवासी उस्मानाबाद डिग्री कॉलेज के सामने बताई। तलाशी लेने पर दोनों के कब्जे से दो टोकरेव टी-54 पिस्तौल, दो मैगजीन और बीस चीनी राउंड बरामद किए गए।

टीआरएफ से जुड़े हैं तार
प्रारंभिक पूछताछ में दोनों ने स्वीकार किया कि वह टीआरएफ के आतंकियों के रूप में काम कर रहे थे और लश्कर-ए-तैयबा के पाकिस्तानी हैंडलर्स के इशारे पर लक्षित हत्याओं को अंजाम देने के लिए शहर में पिस्तौल पहुंचाने में शामिल थे।

टीआरएफ के दो और आतंकी गिरफ्तार 
आगे की पूछताछ में किए गए खुलासे के आधार पर सुरक्षाबलों ने हमदानिया कॉलोनी श्रीनगर में तलाशी अभियान चलाया और टीआरएफ के ही दो और आतंकियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आतंकियों की पहचान अब्दुल हमीद राह पुत्र गुलाम रसूल राह निवासी हमदानिया कॉलोनी बेमिना और सजाद अहमद मराज़ी पुत्र खुर्शीद अहमद मराज़ी निवासी हमदानिया कॉलोनी बेमिना के रूप में हुई है। तलाशी लेने पर दोनों के कब्जे से भी दो टोकरेव टी-54 पिस्तौल, दो मैगजीन और बीस राउंड बरामद किए गए। पुलिस थाना बेमिना में इस संदर्भ में मामला दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here