भाजयुमो नेता पामेला गोस्वामी की गिरफ्तारी राजनैतिक साजिश तो नहीं?… जानिये इस खबर में

भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा की नेता पामेला गोस्वामी को कोकेन रखने के आरोप में दक्षिण कोलकाता के न्यू अलीपुर से गिरफ्तार किया गया है।

भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा की नेता पामेला गोस्वामी को 19 फरवरी को कोकेन रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उन्हें दक्षिण कोलकाता के न्यू अलीपुर इलाके से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी के समय उनके एक दोस्त प्रबीर कुमार डे भी मौजूद थे। पामेला के साथ ही प्रबीर को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों एक कार में सवार थे। पामेला भारतीय जनता युवा मोर्चा की राज्य सचिव हैं। ऐन चुनाव से पहले इस तरह से सत्तासीन पार्टी तृणमूल कांग्रेस पार्टी की प्रबल विरोधी भाजपा की युवा विंग की नेता की गिरफ्तारी कई तरह के सवाल खड़े करती है। सवाल ये भी उठता है कि ये राजनैतिक गिरफ्तारी और सोची-समझी साजिश का हिस्सा तो नहीं?

दरअस्ल विधानसभा चुनाव की आहट मिलते ही पश्चिम बंगाल में राजनैतिक हिंसा के साथ ही अन्य तरह के अपराध काफी बढ़ गए हैं। सत्तासीन ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस पार्टी को करारी चुनौती दे रही भाजपा ने इस मामले में आरोप लगया है कि यह गिरफ्तारी सोची-समझी साजिश का हिस्सा है। हालांकि अभी से कुछ भी निष्कर्ष निकाल लेना जल्दबाजी होगी, लेकिन पिछले चंद महीनों में जिस तरह से यहां भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं की यहां हत्याएं हुई हैं, उन्हें देखते हुए भाजपा के आरोप को सिरे से खारिज भी नहीं किया जा सकता।

100 से अधिक भाजपा नेताओं की हत्या
बता दें कि पिछले तीन-चार महीने में पश्चिम बंगाल में सौ से अधिक भाजपा नेता-कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है। इन खूनखूराबों पर राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के जो बयान आए हैं, वे भी काफी भड़काऊ और राजनैतिक ही रहे हैं। यहां तक कि चंद महीने पहले कुछ लोगों ने भाजापा के राष्ट्रीय अध्यक्ष  जेपी नड्डा और  पार्टी के महासचिव तथा पश्चिम बंगाल के प्रभारी कैलाश विजवर्गीय की गाड़ी पर भी हमला कर दिया था। इस तरह की घटनाएं वहां की सरकार और पुलिस प्रशासन की गलत मानसिकता को उजागर करने के लिए काफी हैं।

ये भी पढ़ेंः म्यांमार में क्यों भड़की हिंसा?… जानने के लिए पढ़ें ये खबर

पुलिस का आरोप
फिलहाल पुलिस ने जो जानकारी दी है, उसके मुताबिक गोस्वामी के बैग और कार के अन्य हिस्सों से लगभग 100 ग्राम कोकेन बरामद की गई है। अंतर्राष्ट्रीय बजार में इसकी कीमत लाखों रुपए है। पुलिस का दावा है कि पामेला काफी समय से ड्रग्स तस्करी में शामिल थीं। मिली सूचना के आधार पर उन्हें उनके सहयोगी प्रबीर के साथ गिरफ्तार किया गया है।

भाजपा ने बताई राजनैतिक साजिश
दूसरी ओर भाजपा ने इस मामले में पुलिस की भूमिका पर संदेह व्यक्त किया है। भजापा सांसद लॉकेट चक्रवर्ती ने कहा है कि पहले भी हमने देखा है कि राज्य पुलिस शस्त्र मामलों में भाजपा के कई कार्यकर्ताओं के नाम शामिल कर दिए गए। पामेला की गिरफ्तारी के मामले में मुझे बहुत अधिक जानकारी नहीं मिल पाई है, इसलिए मैं बहुत ज्यादा बता नहीं सकता।

ये भी पढ़ेंः कौन बनेगा बंगाल का बाजीगर?….. जानने के लिए पढ़ें ये खबर

भाजपा से परेशान टीएमसी
बता दें कि भारतीय जनता पार्टी अगले कुछ महीनों में पश्चिम बंगाल में होने जा रहे विधानसभा चुनाव की जिस तरह से तैयारी करने में जुटी है, उसने सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस पार्टी के नाक में दम हो गया है। पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी तरह-तरह के आरोप लगाकर भाजपा की आक्रामकता को कम करने की कोशिश कर रही हैं, लेकिन ‘दीदी’ का कोई दांव काम आता नहीं नजर आ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here