MP Elections: सभी 230 सीटों के लिए शुक्रवार को मतदान, सामग्री लेकर पोलिंग पार्टियां रवाना

घर से भी मतदान करने की सुविधा (पोस्टल बैलेट) दी गई है।

576

मध्य प्रदेश में विधानसभा निर्वाचन 2023 के अंतर्गत राज्य की सभी 230 सीटों के लिए शुक्रवार को 17 नवंबर को मतदान होगा। इसके लिए प्रदेशभर में 64,523 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं, जहां पांच करोड़ 60 लाख 60 हजार 925 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे। मतदान की सभी तैयारियां पूर्ण हो गई हैं। गुरुवार सुबह भोपाल समेत सभी जिला मुख्यालयों पर भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान सामग्री का वितरण हुआ। इसके बाद मतदान दल सामग्री लेकर मतदान केन्द्रों के लिए रवाना हो गए। शाम तक सभी दल मतदान केन्द्रों पर पहुंच जाएंगे।

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने बताया कि विधानसभा निर्वाचन कार्यक्रम के अनुसार, बालाघाट जिले के कुछ मतदान केन्द्रों को छोड़ कर शेष सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में शुक्रवार, 17 नवम्बर को प्रात: 7 बजे से अपरान्ह 6 बजे तक वोट डाले जाएंगे। मतदान शुरू होने के डेढ़ घंटे पहले सुबह 5:30 बजे से मॉकपोल की प्रक्रिया प्रारंभ होगी। यह प्रक्रिया अभ्यर्थी या उसके अधिकृत एजेन्ट की उपस्थिति में होगी। यदि कोई अभ्यर्थी या उसका एजेन्ट 5:30 बजे मतदान केन्द्र पर उपस्थित नहीं होता है, तो 15 मिनट तक उसका इंतजार किया जाएगा। इसके बाद मतदान दलों और अन्य सदस्यों की उपस्थिति में मॉकपोल की प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी। न्यूनतम 50 वोट से मॉकपोल किये जाने का प्रावधान है, जिसमें नोटा भी शामिल होगा।

64,523 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में मतदान के लिए कुल 64,523 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। गुरुवार को सुबह जिला मुख्यालयों से मतदान सामग्री लेकर मतदान दल पोलिंग बूथों के लिए रवाना हो गए हैं। मतदान दलों के वाहनों को ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) से कनेक्ट किया गया है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय हर जिले की पोलिंग पार्टियों के मूवमेंट पर नजर रखेगा।

राजन ने बताया कि प्रदेश में पांच करोड़ 60 लाख 60 हजार 925 मतदाता शुक्रवार को मतदान प्रक्रिया में भाग ले सकेंगे। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 2 करोड़ 88 लाख 25 हजार 607 जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 2 करोड़ 72 लाख 33 हजार 945 है। थर्ड जेंडर मतदाता एक हजार 373 है।

यह भी पढ़ें – Chhath Puja 2023 : गंगा घाटों पर गंदगी का अम्बार – 

उन्होंने बताया कि प्रदेश में 64 हजार 523 मतदान केंद्रों में से शहरी क्षेत्र में 16 हजार 763 और ग्रामीण क्षेत्र में 47 हजार 760 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। प्रत्येक मदान केंद्र पर शौचालय, रेंप, व्हील चेयर, पानी, हेल्पडेस्क, बिजली आदि की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। वरिष्ठ नागरिक एवं (पीडब्ल्यूडी) दिव्यांग मतदाताओं के लिए मतदान केंद्र भूतल पर बनाए गए हैं। इन्हें घर से भी मतदान करने की सुविधा (पोस्टल बैलेट) दी गई है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.