उत्तराखंड चुनावः कांंग्रेस में और बढ़ेगी कलह, हरीश रावत का ‘यह’ बयान करेगा आग में घी का काम

उत्तराखंड कांग्रेस में उम्मीदवारों की घोषणा के बाद कई सीटों पर घमासान मचा हुआ है। इस बीच हरीश रावत ने जो बातें कही हैं, उनका प्रतिकूल असर पड़ने की आशंका है।

उत्तराखंड में कांग्रेस की स्थिति कांग्रेस को ही पता है। यही कारण है कि वर्तमान चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत फूंक- फूंक कर कदम रख रहे हैं। उत्तराखंड विधानसभा वर्तमान चुनाव के लिए कांग्रेस ने 64 विधानसभा उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। लेकिन छह सीटों पर किचकिच जारी है।

बैठक के बाद कही ये बात
इसी संदर्भ में 26 जनवरी को देहरादून के एक निजी होटल में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह और प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने बैठक की। इसमें छह बची हुई सीटों पर चर्चा की गई। बैठक के बार हरीश रावत ने कहा कि 27 जनवरी तक उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी जाएगी। वर्तमान में कुछ सीटों पर नाम बदलने की चर्चा पर हरीश रावत का कहना था कि अब किसी सीट पर उम्मीदवार नहीं बदला जाएगा।

16 सीटों पर कांग्रेस कमजोर
हरीश रावत मानते हैं कि कांग्रेस 16 सीटों पर काफी कमजोर है, जिनमें 8 सीटें जिताने का दायित्व उन्हें दिया गया है, 4 सीटों की जिम्मेदारी प्रदेश अध्यक्ष अध्यक्ष गणेश गोदियाल, 4 सीटों की जिम्मेदारी नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह को दी गई है। हरीश रावत का कहना है कि जो उम्मीदवार तय हो गए है, उन्हें बदला नहीं जाएगा।

ये भी पढ़ेंः अदिति सिंह ने यूपी में भाजपा का दामन थामा तो पंजाब में पति के टिकट पर संशय, ये चार विधायक भी बेटिकट!

कई सीटों पर घमासान जारी
उत्तराखंड कांग्रेस में उम्मीदवारों की घोषणा के बाद कई सीटों पर घमासान मचा हुआ है। हरीश रावत का यह बयान आग में घी का काम करेगा और बगावत के सुर उभरेंगे। इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here