ठाणे में इस बात को लेकर शिवसेना और ठाकरे गुट आमने-सामने

धर्मवीर आनंद दिघे के बाद एकनाथ शिंदे ने ठाणे की कमान संभाल ली है।

38

सर्वोच्च न्यायालय द्वारा एकनाथ शिंदे को शिवसेना का नाम और धनुष बाण का चुनाव चिह्न दिए जाने के बाद जब शिवसेना के शिवसैनिक ठाणे स्थित शिवाई नगर शाखा पर कब्जा करने गए तो वहां के ठाकरे समूह कार्यकर्ता भी आक्रामक हो गया। उसके बाद दोनों गुटों में झड़प हो गई।

ठाणे का शिवाई नगर मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के कार्य क्षेत्र में है। इसलिए वहां भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। अब इस बात पर विवाद शुरू हो गया है कि इस शाखा पर स्वामित्व का दावा कौन करे। सुप्रीम कोर्ट के फैसले से अब शिंदे की शिवसेना सक्रिय हो गई है। उनका कहना है कि सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें शिवसेना नाम का इस्तेमाल करने और धनुष-बाण इस्तेमाल करने की इजाजत दी है।

शिंदे गुट का आरोप
धर्मवीर आनंद दिघे के बाद एकनाथ शिंदे ने ठाणे की कमान संभाल ली है। शिवसेना के प्रवक्ता नरेश म्हस्के ने कहा कि उन्हें शिवसेना बालासाहेब ठाकरे नाम दिया गया है और सुप्रीम कोर्ट ने हमें शिवसेना नाम का इस्तेमाल करने का अधिकार दिया है। यह शाखा पिछले 35 वर्षों से शिवाईनगर में स्थित है। किसी व्यक्ति ने ताला तोड़कर उस शाखा में अनाधिकृत प्रवेश कर लिया है। मैं इतना ही कह सकता हूं कि अगर इस तरह से ताला तोड़कर कब्जा करने का कानून है तो हमें वह कानून दिखा दीजिए। म्हस्के ने यह भी कहा कि अगर उनके पास अदालत का आदेश है तो वे हमें दिखाएं।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.