राजस्थान में बोलने लगी लाल डायरी, कांग्रेस के लाल ही खोल रहे पोलपट्टी

राजस्थान की विवादित लाल डायरी में क्या लिखा है इसका खुलासा हो गया है।

153

राजस्थान (Rajasthan) की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot Government) से हाल ही में बर्खास्त (Dismissed) किए गए राजेंद्र गुढ़ा (Rajendra Gudha) ने बुधवार (2 अगस्त) जयपुर (Jaipur) में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मीडिया के सामने लाल डायरी (Lal Diary) खोली। इस दौरान गुढ़ा ने कहा कि रंधावा ने मुझसे माफी मांगने को कहा है। मेरे खिलाफ मामले दर्ज किये जा रहे हैं। यह सरकार मुझे डरा रही है लेकिन मैं लाल डायर से किसी को नहीं डरा रहा हूं। राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि मैं आपके सामने वो सारे तथ्य रख रहा हूं जो लाल डायरी में थे। पीसी में लाल डायरी में लिखी बातों का जिक्र करते हुए राजेंद्र गुढ़ा ने कहा कि डायरी में भ्रष्टाचार की सारी बातें लिखी हैं।

गुढ़ा ने इस दौरान कहा कि मैंने अपने विश्वस्त आदमी को इसकी जानकारी दे दी है। अगर वे मुझे जेल में डालेंगे तो बताएंगे। इस डायरी में आरसीए में हुए भ्रष्टाचार का जिक्र किया गया है। सरकार मुझे ब्लैकमेल कर रही है। उन्होंने कहा कि मैं डायरी को विधानसभा के पटल पर रखना चाहता था। आरसीए चुनाव में धांधली हुई है। गुढ़ा ने कहा कि डायरी की जानकारी समय-समय पर दूंगा। सोभाग जी जो मुख्यमंत्री के ओएसडी हैं, इसमें राजीव खन्ना का भी नाम है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को मुकदमे दर्ज करने के लिए दिल्ली जाना पड़ता है।

यह भी पढ़ें- कोयंबटूर बम धमाका प्रकरण में गिरफ्तारी, आईएसआईएस से संबद्ध है आरोपी मोहम्मद

गुढ़ा ने लाल डायरी से क्या बताया?
इस दौरान राजेंद्र गुढ़ा ने लाल डायरी में धर्मेंद्र राठौड़ की लिखावट दिखाते हुए कहा कि इस डायरी में लिखा है, ”वैभव जी और मैंने आरसीए के बारे में बात की थी। कैसे भवानी सामोता लोगों को पैसे नहीं दे रहे हैं। राजीव खन्ना आए, बोले- सामोता ने वादा पूरा नहीं किया। गुढ़ा ने आगे कहा कि डायरी में सौभाग जी का भी नाम है। सरकार मुझे जेल में डाल देगी। इसलिए इस डायरी के बारे में कोई और जवाब दे। नहीं तो मैं इससे जुड़े खुलासे करूंगा यह डायरी। मैं सरकार को ब्लैकमेल नहीं कर रहा हूं बल्कि सरकार मुझे ब्लैकमेल कर रही है। रंधावा ने मुझ पर माफी मांगने के लिए दबाव डाला। मैं इस डायरी को विधानसभा में रखना चाहता था ताकि सभी तथ्य आधिकारिक तौर पर सामने आ जाएं। गुढ़ा ने आगे कहा कि मुझे धमकियां मिल रही हैं।

देखें यह वीडियो- प्रधानमंत्री मोदी लोकमान्य तिलक राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.