Lok Sabha Speaker: लोकसभा अध्यक्ष के लिए पुरंदेश्वरी के नाम पर चर्चा, क्या है भाजपा की रणनीति

भारतीय जनता पार्टी जल्द ही इस बारे में घोषणा कर सकती है। माना जा रहा है कि वह लोकसभा अध्यक्ष का पद अपने पास रखने जा रही हैं। भाजपा सहयोगी तेलुगु देशम पार्टी को उपाध्यक्ष पद देने को तैयार है।

108

लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के बाद इस बात की खूब चर्चा हुई कि भाजपा (BJP) ने अपने सहयोगियों (Allies) को कितने मंत्री पद (Ministerial Posts) दिए। इसके बाद अब सबकी नजर इस बात पर है कि लोकसभा स्पीकर (Lok Sabha Speaker) का पद कौन संभालेगा।

भारतीय जनता पार्टी जल्द ही इस बारे में घोषणा कर सकती है। माना जा रहा है कि वह लोकसभा अध्यक्ष का पद अपने पास रखने जा रही हैं। भाजपा सहयोगी तेलुगु देशम पार्टी को उपाध्यक्ष पद देने को तैयार है। लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए लोकसभा सहयोगियों की सहमति लेने की जिम्मेदारी राजनाथ सिंह को दी गई है। लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव 26 जून को होगा। भाजपा नेतृत्व ने लोकसभा अध्यक्ष का अहम पद अपने पास रखने का फैसला किया है।

यह भी पढ़ें- IMD Rain Alert: मुंबई समेत कोंकण में जल्द ही फिर सक्रिय होगा मानसून! बारिश की संभावना

नायडू की साली डी. पुरंदेश्वरी बनेंगी लोकसभा स्पीकर?
भाजपा ने चंद्रबाबू नायडू की साली डी. पुरंदेश्वरी का नाम आगे बढ़ाया है। इससे चंद्रबाबू नायडू की लोकसभा स्पीकर पद न दिए जाने की नाराजगी भी दूर हो जाएगी। पुरंदेश्वरी ने आंध्र प्रदेश में भाजपा और टीडीपी के बीच गठबंधन में भी बड़ी भूमिका निभाई। हालांकि, भाजपा ने 2-3 नाम और आगे बढ़ा दिए हैं। सहयोगी दलों में जिस नेता के नाम पर सहमति बनेगी, उसे लोकसभा अध्यक्ष बनाया जाएगा। 24 जून से संसद सत्र शुरू हो रहा है। लोकसभा अध्यक्ष का चुनाव 26 जून को होगा।

उन्हें अध्यक्ष पद दिलाने के लिए तेलुगु देशम पार्टी की ओर से भाजपा पर दबाव बनाया जा रहा है। मौजूदा सरकार में अध्यक्ष की भूमिका अहम होने के कारण भाजपा इस पद को अपने पास रखना चाहती है। इस संबंध में भाजपा चंद्रबाबू नायडू, नीतीश कुमार, चिराग पासवान, एकनाथ शिंदे, अजित पवार जैसे सभी सहयोगी दलों के नेताओं से बात कर उनकी सहमति लेने की कोशिश कर रही है।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.