“अपने मुख्यमंत्री को कहना कि मैं जिंदा लौट आया!” सुरक्षा में सेंध पर प्रधानमंत्री की पहली प्रतिक्रिया

पंजाब के फिरोजपुर में प्रस्तावित प्रधानमंत्री की रैली रद्द होने के बाद देश भर से प्रतिक्रियाएं व्यक्त की जा रही हैं। भाजपा नेताओं ने इसे लेकर प्रदेश की चन्नी सरकार की कड़ी आलोचना की है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बड़ी चूक के कारण पंजाब में उनकी प्रस्तावित रैली रद्द कर दी गई। प्रधानमंत्री 15 से 20 मिनट तक वहां फ्लाईओवर पर फंसे रहे। प्रदर्शनकारियों ने सड़क जाम कर दिया था। नरेंद्र मोदी के दौरे की अनुमति और सुरक्षा के वादे के बावजूद भारतीय जनता पार्टी पंजाब की कांग्रेस सरकार की इतनी बड़ी गलती पर रोष जाहिर कर रही है। इसका असर पूरे देश में देखा जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने कहा-
इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बठिंडा एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। दिल्ली रवाना होने से पहले प्रधामंत्री ने भटिंडा में सरकारी कर्मचारियों से कहा कि अपने सीएम को धन्यवाद कहना कि मैं जिंदा भटिंडा पहुंच गया। मोदी ने एयरपोर्ट स्टाफ से कहा, ”आपके मुख्यमंत्री का शुक्रिया, मैं जिंदा बठिंडा एयरपोर्ट पहुंच पाया.”

वास्तव में क्या हुआ –
5 जनवरी को पंजाब के फिरोजपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी रैली होनी थी। सुबह प्रधानमंत्री मोदी भटिंडा पहुंचे, जहां से उन्हें हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला स्थित राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था, लेकिन बारिश और खराब दृश्यता के चलते प्रधानमंत्री ने करीब 20 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार करते रहे। लेकिन मौसम में सुधार नहीं हुआ तो उन्होंने सड़क मार्ग से राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाने का फैसला किया। यह यात्रा लगभग 2 घंटे की थी।

किसानों ने रोक दिया रास्ता?
बताया जा रहा है कि किसानों ने प्रधानमंत्री का रास्ता रोक दिया। इस कारण उनका काफिला 15 मिनट तक फंसा रहा, जिसके बाद फिरोजपुर रैली स्थगित कर दी गई।

ये भी पढ़ेंः पंजाबः प्रधानमंत्री की रैली रद्द! किसने लगाई सुरक्षा में सेंध?

इससे पहले हुआ ऐसा
इससे पहले जानकारी मिली थी कि किसान मजदूर कमेटी, पंजाब के नेतृत्व में अमृतसर और तरनतारन जिलों के किसान फिरोजपुर में होने वाली प्रधानमंत्री की रैली को रोकने के लिए रवाना हो गए हैं। ये किसान पीएम की रैली का विरोध करने के लिए बड़ी संख्या में अमृतसर के बाहरी छब्बा गांव में एकत्र हुए थे और वहां से फिरोजपुर के लिए रवाना हुए थे। इसके बावजूद पंजाब सरकार ने इसे गंभीरता से नहीं लिया और उसने उन्हें रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाया।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मांगा जवाब
सुरक्षा अधिकारियों ने उसे राज्य सरकार की सुरक्षा में बड़ी चूक माना है और गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से जवाब मांगा है।

मोदी देने वाले थे 4,2750 करोड़ रुपए की कई परियोजनाओं का उपहार
इस रैली को दौरान चुनाव प्रचार के साथ ही मोदी 4,2750 करोड़ रुपए की कई परियोजनाओं का उपहार देने वाले थे। उनमें दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेस वे, फिरोजपुर में पीजीआई सैटेलाइट और कपूरथला-होशियारपुर में दो नए मेडिकल कॉलेज शामिल थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here