प्रधानमंत्री मोदी ने प्रमोद महाजन कौशल विकास केंद्रों का किया उद्घाटन, कही ये बात

दिवंगत भाजपा नेता प्रमोद महाजन के नाम पर ये कौशल विकास केंद्र महाराष्ट्र के 34 ग्रामीण जिलों में स्थापित किए जा रहे हैं।

273

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने गुरुवार (18 अक्टूबर) को महाराष्ट्र (Maharashtra) में 511 प्रमोद महाजन ग्रामीण कौशल विकास केंद्रों (Pramod Mahajan Rural Skill Development Centres) का शुभारंभ किया। पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए इसका उद्घाटन किया है। पीएम मोदी ने कहा कि महाराष्ट्र में 511 ग्रामीण कौशल विकास केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं। आज पूरी दुनिया में भारत (India) के कुशल युवाओं की मांग बढ़ती जा रही है।

प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार, ग्रामीण कौशल विकास केंद्र ग्रामीण युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया।

दुनिया में कुशल श्रमिकों की मांग: पीएम मोदी
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि दुनिया में कई देश ऐसे हैं जहां बुजुर्गों की संख्या युवाओं से ज्यादा है और काम करने के लिए प्रशिक्षित युवा मिलना बहुत मुश्किल है। पीएम मोदी ने एक सर्वे का हवाला देते हुए कहा कि दुनिया के 16 देश करीब 40 लाख कुशल युवाओं को नौकरी देना चाहते हैं।

यह भी पढ़ें- भारत को मिला 257 रनों का लक्ष्य, लिटन दास ने जड़ा अर्धशतक

कौशल विकास मिशन पर पीएम मोदी का खास ध्यान
आपको बता दें कि राष्ट्रीय कौशल विकास मिशन को आधिकारिक तौर पर पीएम मोदी ने 2015 में विश्व युवा कौशल दिवस के अवसर पर लॉन्च किया था। इस मिशन को क्षेत्रों और राज्यों में कौशल प्रशिक्षण गतिविधियों को आगे बढ़ाने के लिए विकसित किया गया है।

पिछली सरकारों पर पीएम मोदी ने साधा निशाना
उन्होंने पिछली सरकारों पर निशाना साधते हुए कहा कि लंबे समय तक सरकारों ने कौशल विकास के प्रति गंभीरता नहीं दिखाई, जिसके कारण हमारे युवाओं को भारी नुकसान उठाना पड़ा। उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री में कुशल युवाओं की मांग के बावजूद युवाओं को नौकरी मिलना मुश्किल है।

पीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने युवाओं में कौशल विकास की गंभीरता को समझा और इसके लिए मंत्रालय बनाया। कौशल विकास के लिए अलग से बजट निर्धारित किया गया और कई योजनाएं शुरू की गईं। उन्होंने कहा कि आज भारत सरकार की कौशल योजनाओं का सबसे ज्यादा लाभ गरीब, दलित, पिछड़े और आदिवासी परिवारों को ही हो रहा है।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.