आईएनडीआईए के भविष्य पर सवाल , हाथ ने साइकिल को किया पंचर

आईएनडीआईए गठबंधन के गठन के बाद से ही इसके भविष्य पर सवाल उठ रहे हैं। अब एक बार फिर उत्तर प्रदेश में दोस्ती में कुश्ती हो गई है।

97

आईएनडीआईए गठबंधन के गठन के बाद से ही इसके भविष्य पर सवाल उठ रहे हैं। अब एक बार फिर उत्तर प्रदेश में आईएनडीआईए गठबंधन में शामिल कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी को जोर का झटका देकर दोस्ती में कुश्ती का संदेश दिया है।

इलाहाबाद विश्वविद्यालय छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सपा नेता दिनेश यादव लगभग एक हजार दूसरे युवा पदाधिकारियों के साथ 3 अक्टूबर को कांग्रेस का दामन थाम लिया। सभी को प्रदेश अध्यक्ष अजय राय ने कांग्रेस का दुपट्टा पहनाकर सदस्यता ग्रहण करायी। इस दौरान कांग्रेस कार्यालय पर विभिन्न जिलों से कार्यकर्ता पहुंचे थे।

शिवपाल यादव के बहुत खास माने जाते हैं दिनेश यादव
दिनेश यादव प्रसपा युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष भी रह चुके हैं और शिवपाल यादव के बहुत खास हैं। सदस्यता ग्रहण समारोह में दिनेश यादव ने कहा कि हम सभी समाजवाद की विचारधारा को मानने वाले लोग हैं। समाजवादी पार्टी में समाजवाद समाप्त हो गया है। वहां सिर्फ परिवारवाद है। यही कारण है कि हम ऐसी पार्टी ज्वाइन कर रहे हैं, जहां का राष्ट्रीय अध्यक्ष भी वोटिंग से चुना जाता है। असली समाजवाद कांग्रेस में है।

दोस्त दोस्त न रहा? चीन का पाकिस्तान की नई योजनाओं को मंजूरी देने से इनकार, ये है कारण

सपा पर उठाया सवाल
दिनेश यादव ने कहा कि जो व्यक्ति अपने परिवार में भी बेइमानी करता है, जिस व्यक्ति ने अपने भगवान तुल्य पिता को नहीं छोड़ा, जिस व्यक्ति ने अपने चाचा के साथ छल किया, वह प्रदेश की जनता के साथ कैसे न्याय कर सकता है। इन्हीं बातों पर विचार कर और राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और अजय राय के विचारों से प्रभावित होकर कांग्रेस में आने का फैसला किया। इसका आजीवन निर्वहन करूंगा। इस दौरान पार्टी कार्यालय पर जमकर नारेबाजी भी चलती रही। दिनेश यादव के साथ ही प्रमुख रूप से विवेक सिंह तनहा, इंजीनियर शैलेंद्र कुमार ध्रुव, शमसेर अली, अमृतेश श्रीवास्तव, सुनील गुप्ता, ब्रजेश यादव आदि नेता शामिल हुए।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.