Madhya Pradesh: नीतीश कुमार के महिला विरोधी बयान की पीएम ने की आलोचना, कही ये बात

7 नवंबर को विधानसभा में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि महिलाओं को शिक्षित किया जाना चाहिए, क्योंकि इससे वे संभोग के परिणामस्वरूप गर्भधारण से बच सकेंगी।

1120

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बिहार विधानसभा में दिए गए जन्म नियंत्रण संबंधी बयान को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और इस पर इंडी गठबंधन की चुप्पी पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि जो लोग महिलाओं के बारे में ऐसा सोचते हैं, क्या वे आपके लिए कुछ अच्छा कर सकते हैं?

क्यों चुप हैं इंडी गठबंधन के नेता
प्रधानमंत्री ने 8 नवंबर को मध्य प्रदेश के गुना में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “कल आपने अखबार और टीवी पर एक घटना देखी होगी। ये घमंडिया गठबंधन (आई.एन.डी.आई गठबंधन) के एक बहुत बड़े नेता, जो देश की वर्तमान सरकार को उखाड़ फेंकने के लिए भांति-भांति के खेल कर रहे हैं, इंडी का झंडा लेकर घूम रहे हैं, उस नेता ने विधानसभा के भीतर माताओं-बहनों की उपस्थिति में ऐसी भद्दी भाषा में बातें कीं, जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। शर्म भी नहीं आई उनको। इतना ही नहीं आई.एन.डी.आई गठबंधन के एक भी नेता ने माताओं-बहनों के इतने भयंकर अपमान पर एक शब्द भी नहीं बोला।”

Nepal : भूकम्प से 10 हजार मकान जमींदोज,67 हजार से अधिक लोग विस्थापित! जानिये, कहां था केंद्र

और कितना नीचे गिरोगेः पीएम
मोदी ने जनता से सवाल किया कि मातओं-बहनों के प्रति जो ऐसा दृष्टिकोण रखते हैं, वो कभी आपका भला कर सकते हैं? प्रधानमंत्री ने इसे देश का दुर्भाग्य करार देते हुए कहा कि कितना नीचे गिरोगे? दुनिया में देश की बेइज्जती करा रहे हो। मोदी ने कहा कि माताओं-बहनों के सम्मान के लिए मुझसे जो हो सकेगा, उससे पीछे नहीं हटूंगा।

नीतीश ने क्या कहाः
उल्लेखनीय है कि 7 नवंबर को विधानसभा में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि महिलाओं को शिक्षित किया जाना चाहिए, क्योंकि इससे वे संभोग के परिणामस्वरूप गर्भधारण से बच सकेंगी।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.