एसटी की महिला कर्मचारियों ने खुद पर उड़ेल लिया मिट्टी का तेल! तभी हुआ ऐसा

अब तक 1000 से अधिक एसटी कर्मियों को निलंबित किया जा चुका है लेकिन कर्मचारी अपनी मांग को छोड़कर हड़ताल वापस लेने को तैयार नहीं हैं।

लगता है, महाराष्ट्र राज्य सड़क परिवहन निगम के कर्मचारी इस बार आरपार की लड़ाई लड़नो के लिए कमर कस चुके हैं। आठ दिनों से जारी उनकी संपूर्ण हड़ताल कर्मचारियों के निलंबन और अन्य तरह की कार्रवाई के बाद भी जारी है। अब तक 1000 से अधिक एसटी कर्मियों का निलंबन  किया जा चुका है लेकिन ये कर्मचारी अपनी मांग को छोड़कर हड़ताल वापस लेने को तैयार नहीं हैं। ताजा मामला मुंबई में देखने को मिला है। यहां तीन-चार एसटी की महिला कर्मचारियों ने आत्महत्या की कोशिश की। हालांकि मौके पर मौजूद पुलिस की सतर्कता के कारण अनहोनी टल गई।

और टल गया बड़ा हादसा
बता दें कि मुंबई के आजाद मैदान में एसटी निगम को राज्य सरकार में शामिल करने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रही महिला कर्मियों ने अपने शरीर पर मिट्टी का तेल डाल लिया और आग लगाने का प्रयास किया। पुलिस ने महिलाओं को समय पर रोका और बड़ी आपदा टल गई।

8 दिनों से जारी है संपूर्ण हड़ताल
एसटी कर्मियों की मांग नहीं माने जाने से प्रदर्शनकारियों का आंदोलन तेज होता जा रहा है। उनकी हड़ताल का 14 नवंबर को आठवां दिन है। पिछले आठ दिनों से प्रतिनिधिमंडल की कर्मचारी संघ और परिवहन मंत्री से बातचीत चल रही है। लेकिन अभी तक कोई समझौता नहीं हो पाया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here