आतंकियों ने की थी हत्या, अब कश्मीर छोड़ना चाहता है शिक्षिका का परिवार

जम्मू कश्मीर में आतंकियों ने लक्ष्यित हमले शुरू कर दिये थे। जिसको लेकर केंद्रीय गृह मंत्री ने सीधे आदेश दिये हैं।

कश्मीर में आतंकी हमले का शिकार बनी हिंदू शिक्षिका का परिवार कश्मीर छोड़ना चाहता है। उसने इस संदर्भ में प्रशासन से स्थानांतरण की मांग की है। जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शिक्षिका के परिवार से भेंट की है।

31 मई, 2022 को सांबा निवासी शिक्षिका रजनी बाला की उनके स्कूल में ही आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। लगभग आठ दिनों बाद पीड़ित परिवार से मिलने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा पहुंचे। उपराज्यपाल मिलने के बाद पीड़िता रजनी बाला के पति ने मांग की है कि, उनका स्थानांतरण श्रीनगर से जम्मू किया जाए। इसके साथ ही वेतन संबंधी कुछ मांगे भी पीड़िता के पति ने रखी जिस पर उपराज्यपाल ने आश्वासन दिया है।

टार्गेट किलिंग का शिकार हुई रजनीबाला
कश्मीर में पाकिस्तान परस्त आतंकवादियों ने लक्षित हिंसा (टार्गेट किलिंग) के अंतर्गत कश्मीरी हिंदुओं को निशाना बनाए जाने का सिलसिला तेज कर दिया था। जिसमें 31 मई को स्कूल शिक्षिका रजनीबाला की हत्या, 12 मई को कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या, 2 जून को कुलगाम में बैंक मैनेजर विजय कुमार की हत्या हो गई थी। इसके कारण हिंदू परिवार अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here