Lok Sabha Elections: कांग्रेस ने किया केजरीवाल से किनारा? ये हो सकता है कारण

323

Lok Sabha Elections: दिल्ली में लोकसभा की सात सीटों के लिए 25 मई को मतदान होगा। लेकिन कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी से किनारा कर लिया है। लोकसभा चुनाव के बीच स्वाति मालीवाल प्रकरण ने आम आदमी पार्टी में मुश्किलें पैदा कर दी हैं। कांग्रेस को डर सता रहा है कि आम आदमी पार्टी से गठबंधन नुकसान का सौदा साबित हो सकता है । स्वाति मालीवाल मामले पर अलग-अलग बयानों की वजह से आम आदमी पार्टी सवालों के घेरे में है। आम आदमी पार्टी ने स्वाति मालीवाल के आरोपों के तुरंत बाद विभव कुमार के खिलाफ बयान दिया। आप सांसद संजय सिंह ने विभव कुमार के खिलाफ कार्रवाई का भरोसा दिया था, लेकिन बाद में आप पार्टी केजरीवाल के पीए के पक्ष में आ गई।

कांग्रेस ने आम आदमी पार्टी से बनाई दूरी
कांग्रेस के किसी भी बड़े नेता ने स्वाति मालीवाल मामले पर अभी तक खुलकर कुछ भी नहीं कहा है। लेकिन कन्हैया कुमार ने कहा है कि राजनीति में शुचिता बहुत जरूरी चीज है। अगर मैं भी गलत कर रहा हूं तो मुझे हाथ जोड़कर गलती स्वीकार कर लेनी चाहिए। आम आदमी पार्टी के साथ गठबंधन को लेकर कांग्रेस में शुरू से ही विरोध रहा है। पार्टी के कई नेता आम आदमी पार्टी के गठबंधन का विरोध करते हुए बीजेपी में शामिल हो गए हैं। कांग्रेस को अब समझ में आ गया है कि केजरीवाल के साथ मिलकर राजनीति करने में बची-खुची कांग्रेस भी निपट जाएगी।

Lok Sabha Elections: “कांग्रेस का पहचान है गाना महंगाई डायन खाई जात है”- पीएम मोदी

कांग्रेस पर क्या असर पड़ेगा?
कांग्रेस पार्टी इस समय संघर्ष वाले दौर से गुजर रही है। दिल्ली में तो उसकी हालत पिछले 10 साल में काफी खराब हुई है। इस बार आम आदमी पार्टी के साथ उसका गठबंधन है । कांग्रेस को उम्मीद थी कि केजरीवाल की लोकप्रियता से उसे भी सीटों पर फायदा मिल सकता है। लेकिन अब उसके उलट आम आदमी पार्टी के प्रति जो गुस्सा बन रहा है, उसका असर कांग्रेस की सीटों पर भी पड़ रहा है। आप के खिलाफ जो गुस्सा है, उसका असर कांग्रेस पर भी पड़ रहा है । इसलिए कांग्रेस ने आप पार्टी से किनारा करना शुरू कर दिया है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.