NDA Meet: नीतीश कुमार ने इंडी ब्लॉक पर साधा निशाना, नरेंद्र मोदी को लेकर कही यह बात

उन्होंने ब्लॉक के भीतर आंतरिक संघर्ष और स्पष्ट नेतृत्व दृष्टि की कमी को उजागर किया, जिसके बारे में उनका मानना ​​है कि यह सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ उनकी प्रभावशीलता को कमजोर करता है।

120

NDA Meet: बिहार (Bihar) के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) ने मोदी सरकार (modi government) के तीसरे चरण के गठन के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उम्मीदवारी का समर्थन किया है। कुमार का समर्थन ऐसे महत्वपूर्ण समय में आया है जब राजनीतिक परिदृश्य में महत्वपूर्ण बदलाव देखने को मिल रहे हैं। कुमार ने विपक्षी दल इंडी ब्लॉक पर भी तीखा हमला किया और उनकी एकता और सामंजस्य पर सवाल उठाए।

उन्होंने ब्लॉक के भीतर आंतरिक संघर्ष और स्पष्ट नेतृत्व दृष्टि की कमी को उजागर किया, जिसके बारे में उनका मानना ​​है कि यह सत्तारूढ़ भाजपा के खिलाफ उनकी प्रभावशीलता को कमजोर करता है। भाजपा के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के प्रमुख सदस्यों ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लगातार तीसरी बार प्रधानमंत्री पद के लिए समर्थन दिया। टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू और जेडीयू के नीतीश कुमार ने मोदी को गठबंधन के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के रूप में चुनने के प्रस्ताव को सार्वजनिक रूप से स्वीकार कर लिया।

यह भी पढ़ें- BJP-Led NDA Meeting: NDA संसदीय बोर्ड की बैठक आज, राष्ट्रपति से मिलकर सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे नरेंद्र मोदी

नायडू ने मोदी के नेतृत्व की प्रशंसा की
नई दिल्ली में एनडीए की बैठक में बोलते हुए, नायडू ने मोदी के नेतृत्व की प्रशंसा करते हुए कहा, “आज, भारत के पास सही समय पर सही नेता है। हमें पूरा विश्वास है कि उनके नेतृत्व में, भारत अगले पांच वर्षों में पहली या दूसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगा।”

यह भी पढ़ें- RBI MPC Meeting: रिजर्व बैंक ने Repo Rate 6.50 फीसदी पर बरकरार रखा, लोन की EMI नहीं घटेगी

नीतीश कुमार ने विपक्ष की आलोचना की
नीतीश कुमार ने अपने भाषण में विपक्षी भारत गठबंधन की आलोचना की और पीएम मोदी के प्रति अपने समर्थन की पुष्टि की। कुमार ने कहा, “विपक्षी गुट ने देश के लिए कोई काम नहीं किया है। मैं हर समय पीएम मोदी के साथ रहूंगा। बिहार के सभी लंबित काम पूरे किए जाएंगे। यह बहुत अच्छी बात है कि हम सभी एक साथ आए हैं और हम सभी आपके (पीएम मोदी) साथ मिलकर काम करेंगे।”

यह भी पढ़ें- Pune Car Accident: नाबालिग आरोपी के पिता और दादा की बढ़ी मुश्किलें, जानिए अब कौन सा मामला हुआ दर्ज!

कैबिनेट विभागों की अटकलें
यह टिप्पणी उन अटकलों के बीच आई है कि दोनों पार्टियां नए मंत्रिमंडल में प्रमुख विभागों की मांग कर रही हैं, जिसे रविवार को शपथ दिलाई जाएगी। 543 सदस्यीय लोकसभा में एनडीए ने 293 सीटें जीतीं, जो एक महत्वपूर्ण जीत है। पिछले दो कार्यकालों में भाजपा के प्रभुत्व के विपरीत, पार्टी ने केवल 240 सीटें हासिल कीं, जो बहुमत वाली सरकार के लिए आवश्यक 272 सीटों से कम है।

यह भी पढ़ें- Weather Update: मध्य प्रदेश के 37 जिलों में आज आंधी-बारिश की संभावना, बंगाल में तापमान बढ़ा

बहुमत के लिए सहयोगी महत्वपूर्ण
भाजपा के बहुमत के मार्ग में चार सहयोगी महत्वपूर्ण हैं: चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी 16 सीटों के साथ, नीतीश कुमार की जेडीयू 12 सीटों के साथ, एकनाथ शिंदे की शिवसेना 7 सीटों के साथ, और चिराग पासवान की लोक जनशक्ति पार्टी-रामविलास 5 सीटों के साथ। ये गठबंधन आगामी कार्यकाल के लिए एक स्थिर सरकार बनाने में महत्वपूर्ण हैं। इसके अलावा, यह ध्यान देने योग्य है कि एनडीए की संसदीय दल की बैठक के दौरान, पीएम मोदी को भाजपा के नेता, एनडीए संसदीय दल के नेता और लोकसभा के नेता के रूप में चुना गया।

यह भी पढ़ें- Chirag Paswan: चिराग पासवान चुने गए लोजपा-रामविलास संसदीय दल के नेता

पीएम मोदी ने कहा
इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने कहा, “मैं बहुत भाग्यशाली हूं कि सभी ने सर्वसम्मति से मुझे एनडीए का नेता चुना है। आप सभी ने मुझे एक नई जिम्मेदारी दी है और मैं आपका बहुत आभारी हूं… जब मैं 2019 में इस सदन में बोल रहा था, तो आप सभी ने मुझे नेता के रूप में चुना था, और तब मैंने एक बात पर जोर दिया था, वह है विश्वास। आज जब आप मुझे यह भूमिका दे रहे हैं, तो इसका मतलब है कि हमारे बीच विश्वास का पुल मजबूत है। यह रिश्ता विश्वास की मजबूत नींव पर है और यही सबसे बड़ी पूंजी है।”

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.