Lok Sabha Elections: पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी की गूगली से इंडी गठबंधन परेशान, सीएए,एनआरसी और यूसीसी पर बड़ा दावा

लेकिन जैसे ही इंडी गठबंधन में विवाद बड़ा तो ममता बनर्जी ने यू टर्न ले लिया और कहा की गठबंधन में बनी रहेगी।

327
Mamata Banerjee

Lok Sabha Elections: पश्चिम बंगाल (West Bengal) की मुख्यमंत्री एवं तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो (Trinamool Congress supremo) ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) बड़े ही सुनियोजित तरीके से लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के हर चरण में नए दांव पेच खेल रही है। ममता के दावपेच से इंडी गठबंधन परेशान हो गया है।

ममता बनर्जी ने पांचवें चरण से पहले हुगली की एक जनसभा में कहा कि अगर केंद्र में इंडी गठबंधन की सरकार बनती है तो वो सरकार में शामिल नहीं होगी।उन्हें बाहर से समर्थन देगी। लेकिन जैसे ही इंडी गठबंधन में विवाद बड़ा तो ममता बनर्जी ने यू टर्न ले लिया और कहा की गठबंधन में बनी रहेगी। ,

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में रख दी नई मांग
ममता बनर्जी के इस बयान से भी इंडी गठबंधन में खलबली मच गई है। अब ममता बनर्जी ने तीन शर्ते रख दी है उन्होंने जादवपुर में एक चुनावी सभा में कहा कि उनके समर्थन से केंद्र में इंडी गठबंधन की सरकार बनने पर उन्हें सीएए, एनआरसी और यूसीसी को रद्द करना होगा। ममता बनर्जी ने अंतिम चरण में मुस्लिम वोटो का बंटवारा ना हो इसके लिए यह पत्ता फेंका है।

यह भी पढ़ें- Gateway of India Mumbai: मुंबई में गेटवे ऑफ इंडिया के बारे में 5 अनोखी बातें

रामायण, कुरान विलुप्त होने का दिया बयान
मुसलमान को अपने पक्ष में करने के लिए ममता बनर्जी ने अजीबोगरीब बयान दे दिया है उन्होंने कहा कि रामायण, महाभारत, बाइबल और कुरान एक दिन खत्म हो जाएंगे लेकिन इनकी कहानी खत्म नहीं होगी।

यह भी पढ़ें- Omkareshwar Temple : बस, ट्रेन और फ्लाइट से ओंकारेश्वर मंदिर कैसे पहुंचें

कांग्रेस मुक्त करना चाहती है ममता बनर्जी
ममता बनर्जी एक तीर से दो निशाने कर रही है एक तो मुसलमानो को अपने पक्ष में करना और दूसरा पश्चिम बंगाल से कांग्रेस का नामोनिशान मिटाना। इसलिए वह मुस्लिम प्रेम को अपने बयानों के जरिए दे रही है ताकि मुसलमान वोटो का बटवारा ना हो।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.