Lok Sabha Elections: मोदी सरकार के कार्यों का दलित बस्तियों में ऐसे हो रहा है प्रचार

329

Lok Sabha Elections: लोकतंत्र के महापर्व( great festival of democracy) में मतदाताओं(Voters) को जागरूक करने के लिए साधु-संतों की टोलियां(Groups of saints and sages) उप्र के गांव-गांव पहुंच रही हैं। विश्व हिन्दू परिषद(Vishwa Hindu Parishad) के नेतृत्व में बड़ी संख्या में साधु-संत अपने मठ व आश्रमों से निकलकर दलित बस्तियों में जा रहे हैं। संत प्रवचनों के माध्यम से शत प्रतिशत मतदान व राष्ट्रहित में मतदान की अपील कर रहे हैं। इसके लिए सभी प्रान्तों में अलग-अलग संतों की टोलियां(Groups of saints) बनाई गयी हैं।

शत-प्रतिशत मतदान लक्ष्य
अवध प्रान्त में संत प्रवचन यात्रा का शुभारम्भ विश्व हिन्दू परिषद के क्षेत्र संगठन मंत्री गजेन्द्र सिंह की उपस्थित में नैमिषारण्य से हुआ था। पूर्वी उत्तर प्रदेश के चारों प्रान्तों में संत प्रवचन यात्रा चल रही है। विहिप के क्षेत्र संगठन मंत्री गजेन्द्र सिंह ने बताया कि यात्रा का उद्देश्य शत-प्रतिशत मतदान के लिए लोगों को प्रेरित करना है। संतों की टोलियां गांव-गांव जाकर प्रवचन के माध्यम से मतदान करने के लिए जागरूक कर रही हैं। कुछ स्थानों पर घंटे घड़ियाल के साथ गांवों में प्रभात फेरी भी निकाल रहे हैं।

Lok Sabha elections 2024: सपा नेता शिवपाल यादव के खिलाफ ‘अपमानजनक टिप्पणी’ पर मामला दर्ज, जानें क्या है मामला

सांस्कृतिक कार्यों का बखान कर रहे संत
गांवों में प्रवचन के दौरान साधु संत मोदी सरकार के दौरान सांस्कृतिक,राष्ट्रीय एवं वैचारिक विषयों से जुड़े जो काम हुए हैं। वह चाहे राम मंदिर का निर्माण हो,अनुच्छेद 370 की समाप्ति,तीर्थों का पुनरूद्धार व राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़े विषयों को जनता के सामने रख रहे हैं। संतों के प्रवचन के कार्यक्रम जहां-जहां हो रहे हैं, वहां पर सांस्कृतिक, राष्ट्रीय एवं वैचारिक कार्यों पर आधारित पत्रक वितरित किया जाता है। इस पत्रक में सरकार की उपलब्धियों का वर्णन किया गया है।

 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.