Lok Sabha Elections : वाराणसी में शाम 5 बजे तक 54.76 प्रतिशत मतदान

वाराणसी में सुबह सात बजे से मतदान की प्रक्रिया निर्बाध गति से शुरू हुई तो बदली और भीषण उमस के बावजूद मतदाताओं ने अपने निर्धारित बूथों पर पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

364

Lok Sabha Elections : लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में 1 जून को वाराणसी जिले में शाम 5 बजे तक औसतन 54.76 फीसदी मतदान हुआ। वाराणसी उत्तरी में 53.8, शहर दक्षिणी में 54 फीसदी, वाराणसी कैंट में 50 फीसदी, रोहनिया में 56.8 और सेवापुरी में 59.14 फीसदी मतदान हुआ।

भीषण गर्मी में भी उत्साह
सुबह सात बजे से मतदान की प्रक्रिया निर्बाध गति से शुरू हुई तो बदली और भीषण उमस के बावजूद मतदाताओं ने अपने निर्धारित बूथों पर पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। इसके बाद इसका फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर अपलोड कर खुशी जताई। मतदान को लेकर युवाओं, नव मतदाताओं, दिव्यांगों के साथ महिलाओं में भी उत्साह देखा गया। वाराणसी लोकसभा सीट पर दोपहर एक बजे तक 39.25 फीसदी मतदान हुआ था।

PC Chacko: NCP ‘शरदचंद्र पवार’ के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बने पीसी चाको, जानें कौन हैं ये

मशहूर हस्तियों ने भी डाले वोट
मतदान को लेकर अति विशिष्ट लोगों में भी उत्साह दिखा। वाराणसी परिक्षेत्र के कमिश्नर कौशल राज शर्मा ने वाराणसी के जेपी मेहता इंटर कॉलेज के मतदान केंद्र पर सपरिवार मतदान किया। जाने-माने सितार वादक पद्मश्री पंडित शिवनाथ मिश्र एवं देवब्रत मिश्र ने अपने परिवार के साथ वोट दिया। लोकतंत्र के महापर्व में सबसे प्रेरणादायी नजारा चौबेपुर क्षेत्र में देखने को मिला। यहां अधिवक्ता सियाराम यादव की मां दुखना देवी की मौत हो गई थी। दाह संस्कार के बाद सियाराम यादव ने मुखाग्नि देकर अपने भतीजे के साथ मतदान किया।

स्वदेशी जागरण मंच काशी महानगर की महिला टीम की पहल
मतदान को लेकर निकलने वाले लोगों के लिए स्वदेशी जागरण मंच काशी महानगर की महिला टीम ने नायाब पहल की। महानगर संयोजिका कविता मालवीय और उनकी टीम की सदस्य दिव्या मिश्रा, किरन पांडेय, विजय मिश्रा, अंशु द्विवेदी ने ढ़ोल, नगाड़े और मजीरा की धुन पर तल्ख उमस भरी दोपहरी में नेवादा सुंदरपुर के गणेशधाम कॉलोनी, मणिनगर, मीरा नगर, कंदवा, बरेका और बीएचयू में लोगों को मत देने के लिए प्रेरित किया और उन्हें बूथ पर मतदान के लिए भेजा। टीम ने कई महिलाओं को निकट के बूथ तक भी मतदान के लिए पहुंचाया। कविता मालवीय ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी में मातृशक्ति सम्मेलन में इस कार्य के लिए प्रेरित किया था। प्रधानमंत्री की प्रेरणा और उनके विकसित भारत के संकल्प को मूर्त रूप देने के लिए महिलाओं में भी उत्साह है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.