Lok Sabha Elections 2024: दार्जिलिंग सीट पर मैदान में 14 उम्मीदवार, जानिये भाजपा की क्या है स्थिति

भाजपा की पहाड़ी इकाई के अध्यक्ष कल्याण दीवान दो निर्दलियों को महत्व देने से हिचक रहे हैं। उन्होंने टिप्पणी की कि राजू बिष्ट इस बार बड़े अंतर से जीतेंगे।

93
xr:d:DAFy6mFdrvo:1584,j:7655417788306292868,t:24040911

Lok Sabha Elections 2024: दार्जिलिंग लोकसभा सीट(Darjeeling Lok Sabha seat) से किसी भी उम्मीदवार ने नामांकन पत्र वापस नहीं लिया है। नतीजतन, इस बार कुल 14 उम्मीदवार(total 14 candidates) चुनाव लड़ रहे है। सबसे चर्चा में दो निर्दलीय उम्मीदवार(two independent candidates) कर्सियांग के विधायक विष्णुप्रसाद शर्मा उर्फ बीपी बाजगायेन और गोरखा जनमुक्ति मोर्चा नेता वंदना राई हैं। राजनीतिक हलकों का मानना है कि इन दोनों उम्मीदवारों से भाजपा का दबाव बढ़(BJP’s pressure increased) गया है।

भाजपा को जीत का भरोसा
हालांकि, भाजपा की पहाड़ी इकाई के अध्यक्ष कल्याण दीवान दो निर्दलियों को महत्व देने से हिचक रहे हैं। उन्होंने टिप्पणी की कि राजू बिष्ट इस बार बड़े अंतर से जीतेंगे। 8 अप्रैल को नामांकन पत्र वापस लेने की समय सीमा बीतने के बाद भारत निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों को सिंबल दे दिये हैं। निर्दलीय प्रत्याशी विष्णुप्रसाद शर्मा को सेफ्टी पिन और बंदना राय डोर बेल चुनाव चिह्न मिला है।

UP 112 ने कानपुर कमिश्नरेट को दी 19 नई तकनीकी गाड़ियां, ये है उद्देश्य

निर्दलीय चुनाव लड़ने की वजह
कार्सियांग के भाजपा विधायक विष्णुप्रसाद पार्टी के फैसले के खिलाफ निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं, क्योंकि उन्हें राजू बिष्ट पसंद नहीं है। दूसरी ओर, बिमल गुरुंग की करीबी गोरखालैंड आंदोलन के नेताओं में से एक वंदना राई ने राजू बिष्ट को समर्थन देने के फैसले को स्वीकार नहीं कर सकीं है। इसलिए वह निर्दलीय चुनाव लड़ रहे हैं।

भाजपा विरोधी रुख
ये दोनों मुख्य रूप से गोरखा वोटों को लक्ष्य करके मैदान में उतरे थे और दोनों ने भाजपा विरोधी रुख अपनाया है। इससे तृणमूल कांग्रेस और भारतीय गोरखा प्रजातांत्रिक मोर्चा गठबंधन के उम्मीदवार गोपाल लामा को फायदा होगा, ऐसा राजनीतिक हलकों का मानना है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.