Lok Sabha में केंद्रीय विश्वविद्यालय संशोधन विधेयक, 2023 पारित, इस विश्वविद्यालय को होगा लाभ

केंद्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2023 पर चर्चा के दौरान केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने विपक्षी सदस्यों द्वारा उठाये गये सवालों का जवाब दिया।

1044

लोकसभा ने 7 दिसंबर को केंद्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2023 को पारित(Central Universities Amendment Bill, 2023 passed in Lok Sabha) कर दिया। यह तेलंगाना में प्रस्तावित सम्मक्का सरक्का केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय(Proposed Sammakka Sarakka Central Tribal University in Telangana) की स्थापना की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

उच्च शिक्षा की पहुंच और गुणवत्ता में होगी वृद्धि
केंद्रीय विश्वविद्यालय (संशोधन) विधेयक, 2023 पर चर्चा के दौरान केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान(Union Education Minister Dharmendra Pradhan) ने विपक्षी सदस्यों द्वारा उठाये गये सवालों का जवाब दिया। मंत्री ने कहा कि तेलंगाना में केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय की स्थापना आने वाले वर्षों के लिए क्षेत्रीय आकांक्षाओं को पूरा करेगी। इससे उच्च शिक्षा की पहुंच और गुणवत्ता में वृद्धि होगी और राज्य के लोगों के लिए उच्च शिक्षा और अनुसंधान सुविधाओं को बढ़ावा मिलेगा।

उन्नत ज्ञान को भी बढ़ावा
उन्होंने कहा कि यह भारत की जनजातीय आबादी को जनजातीय कला, संस्कृति और रीति-रिवाजों और प्रौद्योगिकी में उन्नति में निर्देशात्मक और अनुसंधान सुविधाएं प्रदान करके उन्नत ज्ञान को भी बढ़ावा देगा। जनजातीय शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करने के अलावा, केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय किसी भी अन्य केंद्रीय विश्वविद्यालय की तरह सभी शैक्षणिक और अन्य गतिविधियां संचालित करेगा। आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम, 2014 के तहत तेलंगाना राज्य में एक केंद्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय भी अनिवार्य है।

Case of asking questions while taking money: महुआ पर इस तिथि को लोकसभा में रिपोर्ट हो सकती है पेश

विधेयक ध्वनि मत से पारित
इसके बाद सदन ने विपक्षी सदस्यों द्वारा पेश किए गए कुछ संशोधनों को खारिज करते हुए विधेयक को ध्वनि मत से पारित कर दिया। विश्वविद्यालय की स्थापना आंध्र प्रदेश पुनर्गठन अधिनियम, 2014 में की गई प्रतिबद्धताओं के अनुसरण में की जा रही है। इसे तेलंगाना(Telangana) के मुलुगु जिले में स्थापित किया जाएगा। केंद्र ने विश्वविद्यालय के लिए 889.7 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.