Chhattisgarh Assembly elections: दूसरे चरण की 70 सीटों पर 17 नवंबर को मतदान, 958 उम्मीदवारों के भाग्य का होगा फैसला

छत्तीसगढ़ में 17 नवंबर को विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की 70 सीटों पर मतदान होना है।

642

छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के लिए 20 विधानसभाओं में मतदान संपन्न हुआ था। कल यानी 17 नवंबर शुक्रवार को प्रदेश के शेष बचे 70 मैदानी क्षेत्रों में वोट डाले जाएंगे। छत्तीसगढ़ में 17 नवंबर को विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण की 70 सीटों पर मतदान होना है। मतदान के एक दिन पहले 16 नवंबर को मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना बाबा साहेब कंगाले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दूसरे चरण के मतदान को लेकर जानकारी साझा की। उन्होंने बताया कि दूसरे चरण की 70 में से 09 सीटों पर सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे और 61 सीटों पर सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक मतदान होगा।

कंगाले ने बताया कि राज्य की 70 विधानसभा सीटों के लिए 958 उम्मीदवार मैदान में है। इनमें से एक ट्रांसजेंडर उम्मीदवार भी शामिल है। इन उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला कल 1 करोड़ 63 लाख 14 हजार 479 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर करेंगे। राज्य की 70 विधानसभा सीटों में से 20 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवारों की संख्या ज्यादा होने की वजह से डबल ईवीएम मशीन दी गई है। इन मतदाताओं में 2,160 ऐसे मतदाता हैं, जिनकी उम्र 100 साल से भी ज्यादा है। मतदान के लिए पूरे राज्य में 18 हजार 833 मतदान केंद्र बनाए गए हैं जिनमें 09 हजार से भी ज़्यादा मतदान केंद्रों की सीधा लाइव निगरानी होगी। मतदान के लिए 90 हज़ार 272 मतदान कर्मियों को तैनात किया गया है।

71 दिव्यांग और 10 पिंक मतदान केंद्र
रीना बाबा साहेब कंगाले ने बताया विशेष मतदान केंद्रों के बारे में बताया कि हर विधानसभा में 10 पिंक मतदान केंद्र बनाए गए है जिनमे महिला कर्मचारी तैनात रहेगी। इसी तरह 71 दिव्यांग मतदान केंद्र भी बनाए गए हैं जिनमें दिव्यांग कर्मचारी मोर्चा सभालेंगे।

9 मतदान केंद्रों में सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक मतदान
विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में 70 में से 9 मतदान केंद्रों पर मतदान का समय सुबह 7 बजे से दोपहर 3 बजे तक निर्धारित किया गया है। इन 9 मतदान केंद्रों में कामरभौदी, आमामोरा, ओढ, बड़े गोबरा, गंवरगांव, गरीबा, नागेश, सहबीनकछार और कोदोमाली शामिल है।

बिना उद्घाटन के चलेगी Navi Mumbai Metro? जानिये, मुख्यमंत्री शिंदे ने दिया क्या आदेश

खास बातेंः
-मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी रीना बाबा साहेब कंगाले ने बताया कि इस बार वोट बिना वोटर आईडी कार्ड के भी वोट कर सकेंगे। इसके लिए वोटर लिस्ट में होना जरूरी होगा। इसके साथ मतदाता के पास कोई एक सत्यापित दस्तावेज जरूरी होंगे मसलन आधार कार्ड या फिर ड्राइविंग लायसेंस। मतदाता के पुष्टि के बाद वोट किया जा सकेगा।

-कंगाले ने बताया कि दूसरे चरण की 70 सीटों के लिए कुल 18 हजार 833 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इनमें से 9 हजार 424 केंद्रों पर वेब कास्टिंग के माध्यम से सीईओ कार्यालय से सीधी नजर रखी जाएगी।

-प्रदेश के 22 जिलों के 70 विधानसभाओं में वोट डाले जायेंगे वहां पुरुष अभ्यर्थियों की संख्या 827, महिला 130 व तृतीय लिंग के 01 अभ्यर्थी है। इस तरह 70 सीटों पर 958 कैंडिडेट्स मैदान में होंगे। इस चरण में कुल 1,63,14,479 मतदाता मतदान करेंगे। इनमें 1,63,14,479 पुरुष मतदाता, 81,41,624 महिला मतदाता व थर्ड जेंडर के 68,418 वोटर्स शामिल है। द्वितीय चरण के विधानसभा क्षेत्रों में कुल 4,416 मतदाताओं ( 80 आयुवर्ग व दिव्यांग) को वोट फ्रॉम होम की सुविधा दी गई यानी इनके घर जाकर इनसे मतदान कराया गया। इसी तरह 71,427 डाक मतपत्र प्राप्त हो चुके हैं। दूसरे चरण में 75,332 मतदान कर्मी और 14,940 रिजर्व कर्मी इस प्रकार कुल 90,272 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है।

-दूसरे चरण में की 70 सीटों में लगभग आधी हाई प्रोफाइल सीटें हैं। इनमें सीएम भूपेश बघेल, डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव, चरणदास महंत, बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव, नारायण चंदेल, अमरजीत भगत, शिव कुमार डहरिया, जेसीसीजे के संस्थापक अजीत जोगी की पत्नी रेणु जोगी और बेटे अमित जोगी समेत 30 उम्मीदवार शामिल हैं। पहले चरण में 7 नवंबर को 20 विधानसभा सीटों पर हुए चुनाव में से 10 सीटें वीआईपी थींमें कुल मिलाकर प्रदेश में 40 सीटें हाई प्रोफाइल हैं।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.