अमित शाह की जनसभा के लिए कोलकाता तैयार, निशाने पर होंगी सीएम ममता

भारतीय जनता पार्टी ने तैयारियों के तहत, महानगर के विभिन्न हिस्सों में 27 नवंबर को छोटे जुलूस निकाले थे।

615

केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह (Amit Shah) की कोलकाता (Kolkata) के एस्प्लेनेड में 29 नवंबर को होने वाली रैली की तैयारियां पूरी हो गई हैं। शाह के निशाने पर सीएम ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) होंगी। भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) ने तैयारियों के तहत, महानगर के विभिन्न हिस्सों में 27 नवंबर को छोटे जुलूस निकाले थे। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुकांत मजूमदार और पार्टी के वरिष्ठ नेता राहुल सिन्हा ने दक्षिण कोलकाता में जुलूस निकाला, वहीं विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने बीरभूम के रामपुरहाट में इसी तरह के जुलूस का नेतृत्व किया था।

मजूमदार ने कहा कि शाह की प्रस्तावित रैली 2011 के बाद से तृणमूल नेताओं और मंत्रियों के बढ़ते भ्रष्टाचार, घोटालों में उनकी संलिप्तता और भ्रष्टाचार के मामलों में सत्तारूढ़ पार्टी के कई नेताओं और मंत्रियों की गिरफ्तारी के खिलाफ लोगों की नाराजगी को प्रतिबिंबित करेगी। उन्होंने कहा, ‘यह शर्मनाक है कि महान हस्तियों की भूमि तृणमूल शासन के दौरान घोटालों की भूमि में तब्दील हो गई है।’

यह भी पढ़ें- ऋतुराज गायकवाड़ ने खेली तूफानी पारी, रोहित-विराट को छोड़ा पीछे

शुभेंदु अधिकारी ने बांकुड़ा के कोतुलपुर और बीरभूम जिले के रामपुरहाट में भाजपा कार्यकर्ताओं की बैठकों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि 29 नवंबर को शाह की रैली को रोकने की तृणमूल की चाल सफल नहीं हुई। कलकत्ता उच्च न्यायालय ने उनकी दलीलों को खारिज कर दिया।

भाजपा के एक नेता ने कहा कि शाह की रैली के लिए पार्टी के समर्थक और कार्यकर्ता पहले ही पहुंचने लगे हैं। उन्होंने कहा कि हम एक लाख से अधिक लोगों के पहुंचने की उम्मीद कर रहे हैं। लोग बहुत उत्साहित हैं। वे सुनना चाहते हैं कि शाह क्या कहते हैं। वह हमें एक नया रास्ता दिखाएंगे।

भाजपा सूत्रों ने कहा कि शाह बुधवार दोपहर शहर के हवाई अड्डे पर पहुंचेंगे और हेलीकॉप्टर से सीधे मैदान जाएंगे और एक काफिले के साथ रैली स्थल पर पहुंचेंगे। वह उसी दिन वापस चले जायेंगे। राज्य प्रशासन ने उसी स्थान पर भाजपा की रैली के खिलाफ कलकत्ता उच्च न्यायालय की एकल पीठ का रुख किया था, जहां तृणमूल हर साल 21 जुलाई को अपनी शहीद दिवस रैली आयोजित करती है। जब एकल पीठ ने भाजपा की रैली को मंजूरी दे दी, तो प्रशासन ने खंडपीठ का रुख किया, लेकिन उसने भी राज्य सरकार की दलील खारिज कर दी।तृणमूल कांग्रेस प्रवक्ता जयप्रकाश मजूमदार ने कहा कि शाह की रैली के सफल होने की संभावना नहीं है। उन्होंने कहा कि बंगाल के लोग भाजपा के साथ नहीं हैं।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.