कैमरे में कैद फिर भी पुलिस नहीं जानती…

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड जिले के बेलथानगडी के उजिरे ग्राम पंचायत की मतगणना चल रही थी। इस बीच वहां बड़ी संख्या में सोशियल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के कार्यकर्ता झंडों के साथ इकट्ठा थे। जो जोश में आकर पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने लगे।

कर्नाटक में राजनीतिक नाटकों का दौर देशद्रोह तक चला गया। यहां एसडीपीआई के कार्यकर्ताओं ने पंचायत चुनावों की मतगणना में खुले तौर पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। इस दौरान पुलिस वहां खड़ी देखती रही और बाद में इन कार्यकर्ताओं पर देशद्रोह का मामला दर्ज कर लिया।

कर्नाटक के दक्षिण कन्नड जिले के बेलथानगडी के उजिरे ग्राम पंचायत की मतगणना चल रही थी। इस बीच वहां बड़ी संख्या में सोशियल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया के कार्यकर्ता झंडों के साथ इकट्ठा थे। उस समय वहां पर बीजेपी के कार्यकर्ता भी उपस्थित थे। दोनों दलों के कार्यकर्ताओं के बीच नारेबाजी चल रही थी। इससे जोश में आए एसडीपीआई के कार्यकर्ता पाकिस्तान जिंदाबाद का नारा लगाने लगे। इस घटना के समय वहां पुलिस भी मौजूद थी। जिसके बाद सर्किल पुलिस निरिक्षक संदेश पीजी ने वहां से कार्यकर्ताओं को हटाया।

ये भी पढ़ें – अब पंजाब की बोलती बंद!

इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हुआ है। जिसे उडुपी-चिकमगलूर की बीजेपी सांसद शोभा करंडलजे ने साझा किया है। सांसद ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा से कड़ी कार्रवाई की मांग की है। इसके अलावा एसडीपीआई पर राज्य प्रतिबंध लगाने की मांग भी की है।

मामला हुआ दर्ज

बेलथानगडी पुलिस थाने के अंतर्गत भारतीय दंड संहिता के सेक्शन 143 (गैर कानून रूप से इकट्ठा होना) 124 ए (देशद्रोह), 149 (समान लक्ष्य का अभियोजन करने में किया गया अपराध) के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़ें – कौन बनेगा महाराष्ट्र का डीजीपी?

पुलिस का पक्ष

दक्षिण कन्नड जिले के पुलिस निरिक्षक बीएम लक्ष्मी प्रसाद का इस घटना पर बयान सामने आया है।

यह घटना ग्राम पंचायत चुनावों की मतगणना के दौरान हुई है। यह मतगणना एसडीएम कॉलेज में हो रही थी। एसडीपीआई के कार्यकर्ता अपने उम्मीदवार की विजय की खुशी मना रहे थे। लेकिन हमे पता नहीं कि भीड़ में से किसने नारा लगाया। हम अभी भी लोगों की खोज कर रहे हैं जांच जारी है।

कर्नाटक की 226 तहसील के 5,728 पंचायतों के लिए मत पड़े थे। ये मतदान दो चरणों में हुए थे। इसके लिए 2,22,814 उम्मीदवार मैदान में थे जिसमें से 8,074 उम्मीदवार निर्विरोध निर्वाचित हुए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here