Article 370: जानिये, अनुच्छेद 370 पर सर्वोच्च फैसले पर सीएम और महाराष्ट्र के अन्य नेताओं ने क्या कहा

मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि पूरा देश चाहता था कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाई जाए।

1014

Maharashtra: मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे(Chief Minister Eknath Shinde) ने 10 दिसंबर को कहा कि सर्वोच्च न्यायालय(Supreme Court) के निर्णय के बाद यह साफ हो गया कि जम्मू कश्मीर(Jammu and Kashmir) का विकास प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी(Prime Minister Narendra Modi) करेंगे। इसी तरह का निर्णय पूरा देश चाहता था। हम अखंड भारत के समर्थक हैं। स्वर्गीय बालासाहेब ठाकरे(Late Balasaheb Thackeray) ने मांग की थी कि अखंड भारत(United India ) के लिए जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370(Article 370) हटनी चाहिए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने धारा 370 हटाने का निर्णय लिया था, सर्वोच्च न्यायालय ने इस प्रधानमंत्री मोदी के फैसे को सही ठहराया है।

पूरा देश अनुच्छेद 370 हटाने का पक्षधर
मुख्यमंत्री शिंदे ने कहा कि पूरा देश चाहता था कि जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाई जाए। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसे हटा दिया था और 10 दिसंबर को सुप्रीम कोर्ट ने इसे सही ठहरा दिया है। इस काम में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी इसके लिए बहुत मेहनत की थी, इसलिए प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को बधाई देता हूं।

Air Force के हिंडन एयर बेस की सुरक्षा में सेंध लगाने का षड्यंत्र नाकाम, ऐसे हुआ खुलासा

अखंड भारत का सपना होगा पूरा
उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस(Deputy Chief Minister Devendra Fadnavis) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जम्मू कश्मीर के विकास का रास्ता सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद साफ हो गया है। सुप्रीम कोर्ट के 10 दिसंबर के निर्णय के बाद यह साफ हो गया कि अब जम्मू कश्मीर में धारा 370 फिर से नहीं लग सकेगी। इससे अखंड भारत का देश का सपना पूरा हो सकेगा। बहुत जल्द पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भी भारत का अंग होगा। जम्मू कश्मीर में अब पर्यटन का विकास होगा।

तत्काल कराया जाए चुनावः उद्धव ठाकरे
शिवसेना (यूबीटी) के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे(Uddhav Thackeray) ने कहा कि जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने की मांग उनके पिता बालासाहेब ठाकरे ने की थी। धारा 370 हटाने के लिए शिवसेना ने मतदान किया था। 10 दिसंबर को संसद के इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट ने सही बताया है। अब प्रधानमंत्री को जम्मू कश्मीर में तत्काल चुनाव करवाना चाहिए। साथ ही कश्मीर से जो कश्मीरी पंडित विस्थापित हुए हैं, उन्हें फिर से जम्मू कश्मीर में बसाना चाहिए।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.