चीन में पढ़ने वाले भारतीय छात्रों के लिए कब से शुरू होगी सीधी उड़ान? जानिये, इस खबर में

चीन के कॉलेजों में 23,000 से अधिक भारतीय छात्र पढ़ रहे हैं। 12,000 से अधिक भारतीय छात्रों ने वापसी की इच्छा प्रकट की है।

कोविड प्रतिबंधों के चलते घर में फंसे भारतीय छात्रों की वापसी और सीधी उड़ानों को फिर से शुरू करने को लेकर चीनी विदेशमंत्री से भारतीय राजदूत ने चर्चा की है।

बीजिंग के कड़े कोविड प्रतिबंधों के चलते सीधी उड़ान नहीं होने से हजारों छात्र घर में फंसे हैं। इस समस्या को देखते हुए भारतीय राजदूत प्रदीप कुमार रावत ने चीनी विदेश मंत्री वांग यी से मुलाकात की। भारतीय राजदूत ने वांग यी से हजारों भारतीय छात्रों की वापसी के लिए सीधी उड़ानें बहाल करने को लेकर चर्चा की।

ये भी पढ़ें – मुम्बई में दो व्यक्तियों पर जानलेवा हमले के आरोपी शूटर एसटीएफ के हत्थे चढ़े

जल्द प्रगति की उम्मीद
-वांग यी ने इस साल मार्च में नई दिल्ली की अपनी यात्रा के दौरान भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ मुलाकात की थी। भारतीय दूतावास से जारी विज्ञप्ति में वांग के हवाले से कहा गया कि चीनी पक्ष ने भारतीय छात्रों की वापसी के संबंध में भारतीय पक्ष की चिंताओं को महत्व दिया और इस पर जल्द प्रगति होने की उम्मीद जताई है।

-विज्ञप्ति में कहा गया कि वांग ने दोनों देशों के बीच सीधे उड़ान संपर्क को बहाल करने पर हुई बातचीत का भी जिक्र किया। राजदूत रावत ने बताया कि भारत में संबंधित एजेंसी इस मामले को देख रही है और हम जल्द मामले में प्रगति देख सकते हैं।

-चीन की आधिकारिक रिपोर्ट के अनुसार, चीन के कॉलेजों में 23,000 से अधिक भारतीय छात्र पढ़ रहे हैं। 12,000 से अधिक भारतीय छात्रों ने वापसी की इच्छा प्रकट की है और उनकी जानकारी आगे की प्रक्रिया के लिए चीन की सरकार को भेज दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here