Hamas attack: यूरोपीय संघ ने फिलिस्तीन के सभी भुगतान किए निलंबित

84

इजराइल पर हमास हमले (Hamas attack) के बाद फ्रांस के एक सांसद ने कहा है कि इजराइल पर हमास के हमले के बाद कम से कम आठ फ्रांसीसी नागरिक (french citizen) लापता हैं, जिनके मारे जाने या फिर उन्हें बंधक बना लिया गया है। यूरोपीय संघ (European Union) ने फिलिस्तीन को सभी भुगतान निलंबित (suspends) कर दिया है जबकि जर्मनी को ईरान के विमान को धमकी मिलने के बाद हैम्बर्ग हवाई अड्डे पर उड़ानें स्थगित कर दी गई है।

बंधकों की रिहाई के लिए हर साधन का उपयोग
इजराइल सहित भूमध्यसागरीय देशों के एक बड़े हिस्से में विदेशों में रहने वाले फ्रांसीसी लोगों का प्रतिनिधित्व करने वाले रूढ़िवादी सांसद मेयर हबीब ने सोशल ,मीडिया प्लेटफार्म एक्स (पूर्व में ट्विटर) पर लिखा, “बंधकों की सुरक्षा के लिए हमास को सीधे जिम्मेदार ठहराया जाना चाहिए और उनकी रिहाई सुनिश्चित करने के लिए हर साधन का उपयोग करना चाहिए। मेयर हबीब ने कहा कि उन्होंने बोर्डो के 26 वर्षीय एविडन टी. के पिता से बात की थी, जो इजरायल में रहते हैं। उन्होंने लिखा, “पिता ने मुझे इस बात की पुष्टि की है कि इस युवा फ्रांसीसी को वास्तव में बंधक बना लिया गया है।

‘‘सभी भुगतान’’ तत्काल प्रभाव से निलंबित
यूरोपीय संघ के आयुक्त ओलिवर वरहेली ने हमास द्वारा इजरायल पर हमले को ‘‘आतंक और क्रूरता’’ करार देते हुए 09अक्टूबर को कहा कि यूरोपीय संघ ने फलस्तीनियों (Palestinians) को ‘‘सभी भुगतान’’ तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिए हैं। इस कदम के पीछे क्या कारण हैं और क्या इससे फलस्तीनियों को दी जाने वाली सभी मानवीय सहायता प्रभावित होगी, इस बारे में प्रश्नों का जवाब नहीं दिया गया है।

यूरोपीय आयोग विकास की मद की भी समीक्षा
वरहेली ने कहा कि ‘‘फलस्तीनियों के सबसे बड़े दानदाता के रूप में, यूरोपीय आयोग विकास की मद में दिए जाने वाली राशि की समीक्षा कर रहा है। यह राशि 69.1 करोड़ यूरो है।’’ वरहेली ने कहा कि उपायों में यह भी शामिल है कि ‘‘सभी तरह के भुगतान तुरंत निलंबित कर दिए जाएं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘सभी परियोजनाओं की समीक्षा की जा रही है। सभी नये बजट प्रस्ताव…अगली सूचना तक स्थगित कर दिए गए हैं।’’

जर्मनी में ईरान के एक विमान को धमकी मिलने के बाद सोमवार को हैम्बर्ग हवाई अड्डे से आने-जाने वाली उड़ानें लगभग डेढ़ घंटे के लिए निलंबित कर दी गईं। अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

यह भी पढ़ें – घर बैठे दिखेगी कोर्ट की कार्यवाही, इस High Court में 11 अक्टूबर से होगी पहल

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.