Silkyara Rescue operation: सिल्क्यारा टनल हादसे को गडकरी ने बताया बेहद अहम बचाव अभियान , जताया आभार

729

Silkyara Rescue operation: केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने कहा कि वह पूरी तरह से राहत और प्रसन्नता का अनुभव कर रहे हैं क्योंकि सिल्क्यारा सुरंग हादसे (Silkyara Tunnel accident) में फंसे 41 श्रमिकों (workers) को सफलतापूर्वक सुरक्षित बचा लिया गया है। अपनी एक पोस्ट में गडकरी ने कहा कि यह कई एजेंसियों द्वारा बेहतर तरीके से संचालित एक समन्वित प्रयास और हाल के वर्षों में सबसे महत्वपूर्ण (most important) बचाव अभियानों में से एक है। उन्होंने कहा कि कई चुनौतियों का सामना करने के बावजूद विभिन्न विभाग और एजेंसियां एक-दूसरे के पूरक बनी रही हैं। उन्होंने कहा कि सभी के अथक और सत्यनिष्ठ प्रयासों और सभी की प्रार्थनाओं से यह अभियान संभव हो पाया है।

समर्पित प्रयासों के मिले अनुकूल परिणाम
गडकरी ने कहा कि बचाव टीमों के समर्पित प्रयासों के अनुकूल परिणाम मिले हैं। उन्होंने इस बचाव अभियान में शामिल प्रत्येक एजेंसी और व्यक्ति के प्रति आभार व्यक्त किया। मंत्री महोदय ने अंतरराष्ट्रीय बचाव विशेषज्ञों, प्रशासनिक अधिकारियों और उत्तराखंड सरकार की त्वरित और प्रभावी प्रतिक्रिया के लिए भी सराहना की

पीएम मोदी, सीएम धामी और वीके सिंह की बड़ी भूमिका
गडकरी ने कहा कि वह इस अवसर पर वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदीजी को धन्यवाद देते हैं, जो निरन्तर पूरे अभियान की निगरानी करते रहे और आवश्यकता पड़ने पर मार्गदर्शन और सहायता भी प्रदान कर रहे हैं। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी और उनके सहयोगी जनरल वी.के सिंह (सेवानिवृत्त) ने भी लगभग पूरे अभियान के दौरान वहां अपनी उपस्थिति बनाए रखी। गडकरी ने कहा कि वह सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के अधिकारियों और अभियंताओं को उनके ईमानदार प्रयासों के लिए धन्यवाद देते हैं।

यह भी पढ़ें – Silkyara Rescue Success: धामी ने की बाबा बौख नाग से प्रार्थना, की ये घोषणा

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.