चिराग ने तेजस्वी को दी बधाई, अपनी शादी को लेकर कही यह बात

लोजपा नेता चिराग पासवान ने कह है कि शादी का फैसला हर किसी के जिंदगी का निजी फैसला होता है, इसलिए इसे जात-पात, धर्म- मजहब से जोड़ कर नहीं देखना चाहिए।

 लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान ने पटना पहुंचने पर 9 दिसंबर को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को बधाई दी। उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा से तेजस्वी को छोटा भाई माना है और आज उनकी शादी है तो खुशियां घर में ही आ रही हैं। उनको और पूरे परिवार को बधाई।

उन्होंने कहा कि मैं जात-पात, धर्म-मजहब नहीं मानता। शादी का फैसला हर किसी के जिंदगी का निजी फैसला होता है, इसलिए इसे जात-पात, धर्म- मजहब से जोड़ कर नहीं देखना चाहिए। एक प्रश्न के जवाब में चिराग पासवान ने कहा कि मैं जहां भी शादी करूंगा डंके की चोट पर करूंगा।

होनी चाहिए जातीय जनगणना
इन दिनों फिर से बिहार में जातीय जनगणना का मुद्दा छाया हुआ है। इससे जुड़े प्रश्न पर उन्होंने कहा राज्य सरकार जातीय जनगणना कराती है तो लोक जनशक्ति पार्टी उसका समर्थन करेगी। हम सभी चाहते हैं कि जातीय जनगणना होनी चाहिए, क्योंकि नीतियां, योजनाएं जाति के आधार पर केन्द्र या राज्य सरकार बनती है। इसलिए यह जानना जरूरी है कि किस जाति की कितनी संख्या है।

शराबबंदी को लेकर कही यह बात
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को शराबबंदी के सवाल पर आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार समझते हैं कि एक बार शराबबंदी कानून बना दिया तो वह सफल हो जाएगी। इसके लिए जागरुकता जरूरी है। शराबबंदी कानून बिहार जैसे राज्य में लागू रहना चाहिए।

ये भी पढ़ेंः शिवसेना यूपीए को देगी संजीवनी! इस नेता के बयान से मिले बड़े संकेत

मोतियाबिंद ऑपरेशन में आंख गंवाने वालों को लेकर की सरकार की आलोचना
मुजफ्फरपुर में मोतियाबिंद के ऑपरेशन शिविर में हुई घटना पर उन्होंने कहा कि जिन लोगों की आंख की रौशनी चली गई, उसमें उनका क्या कसूर है। इन पीड़ित लोगों से मिलना भी नीतीश कुमार ने जरूरी नहीं समझा। बंद कमरे में बैठकर काम करने से सब कुछ ठीक नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि सीएम खुद आंख का ऑपरेशन कराने दिल्ली जाते हैं और गरीब जनता शिविर में ऑपरेशन करा कर अपनी आंखें खो रहे हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here