लोकसभा चुनाव 2024 के लिए भाजपा का ‘ब्लू प्रिंट’ तैयार, मोदी सहित ये नेता दिखाएंगे दम

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नाड्डा ने लोकसभा चुनावों की प्रचार की नीति तय करने के लिए एक समिति की स्थापना की है।

29

भाजपा ने 5 वीं में आगामी लोकसभा चुनावों पर ध्यान केंद्रित करते हुए पार्टी का विस्तार करने की योजना बनाई है। तदनुसार, भाजपा पश्चिम बंगाल, ओडिशा और दक्षिण भारत के राज्यों पर ध्यान केंद्रित करेगी। पार्टी के सूत्रों ने बताया कि विशेष ध्यान अल्पसंख्यक समुदायों और पिछड़े वर्गों पर केंद्रित होगा।

वर्ष के अंत तक प्रधानमंत्री की 5 बैठक
देश के लगभग सभी पक्ष अब लोकसभा चुनावों की तैयारी कर रहे हैं। भाजपा ने भी इस चुनाव के लिए कमर कस ली है। जिन राज्यों में भाजपा अपना दायरा बढ़ाना चाहती है, उनमें वर्ष के अंत तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लगभग 5 बैठकें होंगी। यह महिलाओं, पिछड़े और अल्पसंख्यक समुदायों तक पहुंचने की भी कोशिश करेगा। इसके साथ ही दक्षिणी राज्य, ओडिशा और पश्चिम बंगाल निर्वाचन क्षेत्रों पर जोर दिया जाएगा।

 परियोजनाओं की होगी घोषणा 
इसके अलावा, उन राज्यों में जहां भाजपा के पास ज्यादा प्रचार नहीं है, केंद्र सरकार द्वारा बड़ी परियोजनाओं की घोषणा की जाएगी। इसके अलावा, ऐसे राज्यों को अच्छे फंड प्रदान किए जाएंगे। भाजपा ने पहले ही महिलाओं और अल्पसंख्यक समुदायों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए विभिन्न कार्यक्रम ले लिए हैं। महिलाओं के मोर्चे को केंद्र की महिलाओं के लिए योजनाओं के लाभार्थियों तक पहुंचने की जिम्मेदारी दी गई है। अल्पसंख्यक मोर्चे ने छह राज्यों और केंद्र क्षेत्रों में छह लोकसभा क्षेत्रों की एक सूची तैयार की है। इन निर्वाचन क्षेत्रों में अल्पसंख्यक की आबादी 5 %से अधिक है। इसलिए, अल्पसंख्यक मोर्चा इन निर्वाचन क्षेत्रों पर विशेष ध्यान द

 एक समिति की स्थापना
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नाड्डा ने लोकसभा चुनावों के लिए प्रचार की नीति तय करने के लिए एक समिति की स्थापना की है। छह -कमेटी समिति में सुनील बंसल, विनोद तावदे और तरुण चुघ शामिल हैं। क्या विभाग और विधायक, सांसदों को दिए गए कार्यक्रम पर अमल किया जा हैं? समिति इसका निरीक्षण करने और वरिष्ठ नेताओं को रिपोर्ट करने के लिए काम करेगी। इसके अलावा, यदि इस कार्यक्रम में कुछ बदलाव, सुधार, तो इस तरह के निर्देश समिति द्वारा दिए जाएंगे। विभिन्न मार्च और राज्यों से आने वाली जानकारी के आधार पर, प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नाड्डा और अन्य स्टार प्रचारकों को भी विभिन्न कार्यक्रमों और बैठकों के लिए निर्देश दिए जाएंगे। पार्टी के वरिष्ठ नेताओं और मंत्रियों को भी राज्य का प्रभार दिया जाएगा। छह -कमेटी समिति इन सभी राज्यों की निगरानी के लिए काम करेगी। ऐसा करते समय, प्रत्येक स्तर पर उचित समन्वय बनाए रखा जाएगा। इसके अलावा, किसी भी मुद्दे को रोकने के लिए माइक्रो -प्लानिंग बनाई जाएगी। भाजपा के सूत्रों ने कहा कि दक्षिणी राज्यों, ओडिशा और पश्चिम बंगाल पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

अनुसूचित जाति श्रेणी बनाने के लिए भाजपा की विशेष योजना
इसके अलावा, भाजपा ने देश में अनुसूचित जाति श्रेणी के लिए एक विशेष योजना बनाई है। यह बताया गया है कि भाजपा अनुसूचित जातियों तक पहुंचने के लिए एक ‘हाउस हाउस’ अभियान को लागू करेगा। महत्वपूर्ण रूप से, लोकसभा में 5 सीटों में से 3 अनुसूचित जाति श्रेणी के लिए आरक्षित हैं। सूत्रों ने कहा कि इनमें से भाजपा ने 3-5 सीटें जीतने का प्रयास किया।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.