Bansuri Swaraj On UCC: ABVP के कार्यक्रम में बांसुरी स्वराज समान नागरिक संहिता पर कही यह बात, जानने के लिए पढ़ें

बांसुरी स्वराज शनिवार रात जेएनयू के पेरियार मेस परिसर में "समान नागरिक संहिता: लैंगिक न्याय, समानता और बंधुत्व की आवश्यकता" विषय पर मेस टॉक को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रही थीं।

86

Bansuri Swaraj On UCC: सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता एवं दिल्ली भाजपा की सचिव बांसुरी स्वराज (Bansuri Swaraj) ने समान नागरिक संहिता (uniform civil code) (यूसीसी) को महिलाओं की सुरक्षा एवं अधिकारों को सुनिश्चित करने वाला बहुप्रतीक्षित कानून (much awaited law) बताया है। उन्होंने कहा कि बाबासाहब डॉ. अंबेडकर ने भी पूर्व में इस कानून को लागू करने की अनुशंसा की थी।

बांसुरी स्वराज शनिवार रात जेएनयू के पेरियार मेस परिसर में “समान नागरिक संहिता: लैंगिक न्याय, समानता और बंधुत्व की आवश्यकता” विषय पर मेस टॉक को बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रही थीं। इसका आयोजन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने किया था। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में जेएनयू में सेंटर फॉर कोम्प्रेहेंसिव पॉलिटिक्स एंड पोलिटिकल थ्योरी के सहायक प्राध्यापक डॉ. रवि रमेशचंद्र शुक्ला मौजूद रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जेएनयू के स्पेशल सेंटर फॉर नेशनल सिक्योरिटी स्टडीज़ की सहायक प्राध्यापक डॉ. आयुषी केतकर ने की।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections: भाजपा ने जारी की 195 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, इन सीटों पर 100 प्रतिशत जीत के आसार

नागरिकों को समान अधिकार
स्वराज ने कहा कि समान नागरिक संहिता लैंगिक न्याय, समानता और बंधुत्व के लिए आवश्यक है। यह सभी नागरिकों को समान अधिकार और अवसर प्रदान करेगा, चाहे उनका धर्म या समुदाय कुछ भी हो। यह संहिता महिलाओं की सुरक्षा एवं अधिकारों को सुरक्षित एवं सुनिश्चित करने का काम करेगा। यूसीसी में लिव-इन को लेकर फैली भ्रांतियों के संदर्भ में उन्होंने कहा कि संबंध भले ही जायज या नाजायज हो जाए लेकिन संतान कभी नाजायज नहीं होती। लिव-इन संबंध या विवाहेत्तर संबंधों से उत्पन्न संतानों के अधिकार एवं इस प्रकार के संबंधों में महिलाओं की सुरक्षा सुनिश्चित हो यह यूसीसी में सुनिश्चित किया गया है। उल्लेखनीय है कि उत्तराखंड विधानसभा ने हाल ही में समान नागरिक संहिता विधेयक ध्वनिमत से पास किया था।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Elections: भाजपा ने घोषित किए 195 सीटों पर अपने उम्मीदवार, जानिये किन-किन सीटों पर होगी टफ फाइट

बांसुरी स्वराज नई दिल्ली से भाजपा उम्मीदवार
स्वराज ने एबीवीपी के विषय में कहा, “मैंने अपने सामाजिक जीवन की शुरुआत एबीवीपी के कार्यकर्ता के रूप में की थी, जहां मेरी ट्रेनिंग हुई है और जब आज पहली बार राजनीतिक कैरियर की शुरुआत कर रही हूं, तो मेरा सौभाग्य देखिए की इस नए कैरियर की शुरुवात आज जेएनयू में अपने परिवार एबीवीपी के बीच आकर करने का मौका मिल रहा है।” बांसुरी स्वराज को भाजपा ने नई दिल्ली लोकसभा क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया है। वह भाजपा की कद्दावर नेता एवं पूर्व विदेश मंत्री दिवंगत सुषमा स्वराज की पुत्री हैं।

यह वीडियो भी दखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.