Lok Sabha के बाद राज्यसभा से भी 45 सांसद वर्तमान सत्र के लिए निलंबित, ये है कारण

लोकसभा से 18 दिसंबर को 33 सांसदों को निलंबित किया गया है। इससे पहले 13 सांसदों को लोकसभा और एक को राज्यसभा से निलंबित किया था।

1830

लोकसभा (Lok Sabha) के बाद राज्यसभा से भी 18 दिसंबर को बड़ी संख्या में सांसदों को वर्तमान सत्र के लिए निलंबित(A large number of MPs were also suspended from Rajya Sabha on December 18 for the current session) कर दिया गया। इसमें कांग्रेस नेता जयराम रमेश, रणदीप सिंह सुरजेवाला, केसी वेणुगोपाल सहित कुल 45 सांसद हैं।

एक सदस्य को पहले ही सदन से 15 दिसंबर को निलंबित किया जा चुका है। इसको मिलाकर राज्यसभा से अबतक 46 सांसदों को अनुचित आचरण के लिए निलंबित किया गया है।

दूसरी ओर लोकसभा में भी 18 दिसंबर को 33 सांसदों को निलंबित किया गया। 13 सांसदों को पहले ही सदन से निलंबित किया जा चुका था। कुल मिलाकर लोकसभा और राज्यसभा से 92 सांसदों को निलंबित(92 MPs suspended from Lok Sabha and Rajya Sabha) किया जा चुका है।

 निलंबन संविधान और लोकतंत्र पर हमला : खड़गे
 राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे(Leader of Opposition in Rajya Sabha Mallikarjun Kharge) ने 18 दिसंबर को कहा कि 47 सांसदों को निलंबित कर मोदी सरकार(Modi government) ने संविधान और लोकतांत्रिक मूल्यों को तार-तार कर दिया है।

लोकतंत्र पर हमला
खड़गे ने एक्स पर लिखा कि पहले संसद में घुसपैठ और अब मोदी सरकार ने 47 सांसदों को निलंबित कर संसद और लोकतंत्र पर हमला किया है। यह सरकार संसद को विपक्ष विहीन करने की दिशा में काम कर रही है। जिससे वह लंबित विधेयकों को बिना चर्चा के संसद के दोनों सदन से पास करवा लें।

संसद सुरक्षा में चूक पर गृह मंत्री दोनों सदनों में दें जवाब
खड़गे ने कहा कि हमारी मांग है कि केंद्रीय गृह मंत्री संसद सुरक्षा में हुई चूक मुद्दे पर दोनों सदन में जवाब दे। विपक्ष की यह जायज मांग है। इस पर विस्तृत चर्चा सदन में होनी चाहिए। गृह मंत्री समाचार पत्र और न्यूज चैनल पर इस विषय पर चर्चा करते हैं, जवाब देते हैं लेकिन सदन में बोलने से बचते हैं।

उल्लेखनीय है कि लोकसभा से 18 दिसंबर को 33 सांसदों को निलंबित किया गया है। इससे पहले 13 सांसदों को लोकसभा और एक को राज्यसभा से निलंबित किया था। इसकी कुल संख्या 47 हो जाती है। वहीं राज्यसभा से आज 45 सांसदों को निलंबित किया गया।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.