West Bengal: चक्रवात ‘रेमल’ का कहर, चार लोगों की मौत

बंगाल के दक्षिण 24 परगना के मौसुनी द्वीप समूह से एक और मौत की सूचना मिली है, क्योंकि तेज हवाओं के कारण एक पेड़ उखड़कर रेणुका मंडल (80) पर गिर गया।

478

West Bengal में चक्रवात रेमल के प्रभाव से मरने वालों की संख्या चार हो गई है। भारी बारिश से पेड़ उखड़कर बिजली के तारों पर गिर गए। तारों की मरम्मत करने के दौरान दो लोगों की बिजली के तार के संपर्क में आने से मौत हो गई। एक जर्जर इमारत की दीवार गिरने से एक और व्यक्ति की मौत हो गई।

इनकी मौत
सुंदरबन मामलों के विभाग के मंत्री बंकिम चंद्र हाजरा ने बताया कि पहले दो मृतक पश्चिम बंगाल के पूर्व बर्दवान जिले के मेमारी के रहने वाले थे। मृतक व्यक्तियों की पहचान फोरे सिंह (64) और उनके बेटे तरूण सिंह (30) के रूप में की गई है। तीसरा मृतक उत्तर कोलकाता के बिबी बागान इलाके का निवासी था। उसकी पहचान मोहम्मद साजिब के रूप में हुई। एक जर्जर इमारत की दीवार का एक हिस्सा गिरने से उसकी मौत हो गई।

कई घर भी ढहे
हाजरा ने कहा कि दक्षिण 24 परगना के मौसुनी द्वीप समूह से एक और मौत की सूचना मिली है, क्योंकि तेज हवाओं के कारण एक पेड़ उखड़कर रेणुका मंडल (80) पर गिर गया। उन्होंने कहा कि दुखद मौतों के अलावा क्षेत्र में कुछ मिट्टी के घर भी ढह गए हैं। मंत्री ने कहा कि हमने तिरपाल वितरित किए हैं और लोगों के पुनर्वास के लिए व्यवस्था की जा रही है। राज्य प्रशासन भी उनके लिए भोजन की व्यवस्था कर रहा है।

Swatantryaveer Savarkar Jayanti Special: राज्यपाल आर्लेकर के हाथों ब्रिगेडियर हेमंत महाजन की पुस्तक का विमोचन, कहा- यह गौरव का क्षण

कोलकाता के मेयर फिरहाद हकीम ने कहा कि कोलकाता नगर निगम नियमित रूप से जर्जर इमारतों के मालिकों और निवासियों को उनकी मरम्मत के लिए याद दिलाता रहा है लेकिन वे आसानी से हमारी सलाह को नजरअंदाज कर देते हैं।

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.