IND-W VS SA-W: शेफाली वर्मा ने महिला टेस्ट में सबसे तेज दोहरा शतक का तोड़ा रिकॉर्ड, आंकड़ा छूने वाली बनीं दूसरी भारतीय

20 वर्षीय शेफाली ने महज 194 गेंदों पर दोहरा शतक जड़ा और इस तरह एनाबेल सदरलैंड के पिछले रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया, जिन्होंने इसी साल की शुरुआत में इसी टीम के खिलाफ 248 गेंदों पर दोहरा शतक बनाया था।

85

IND-W VS SA-W: भारतीय महिला टीम (Indian women’s team) की स्टार ओपनर (star opener) शेफाली वर्मा (Shefali Verma) ने 28 जून (शुक्रवार) को अविश्वसनीय प्रदर्शन करते हुए महिला टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे तेज दोहरा शतक बनाने वाली खिलाड़ी बन गईं। शेफाली ने चेन्नई में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ एकमात्र टेस्ट के दौरान यह उपलब्धि दर्ज की।

20 वर्षीय शेफाली ने महज 194 गेंदों पर दोहरा शतक जड़ा और इस तरह एनाबेल सदरलैंड के पिछले रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया, जिन्होंने इसी साल की शुरुआत में इसी टीम के खिलाफ 248 गेंदों पर दोहरा शतक बनाया था।

यह भी पढ़ें- NEET Paper Leak: ‘सरकार चर्चा के लिए तैयार, विपक्ष को संसद में बनाए रखे मर्यादा’- धर्मेंद्र प्रधान

23 चौके और आठ छक्के शामिल
शेफाली की इस उल्लेखनीय उपलब्धि से वह सबसे लंबे प्रारूप में दोहरा शतक बनाने वाली दूसरी भारतीय महिला बन गई हैं। वह पूर्व कप्तान और महान बल्लेबाज मिताली राज के नक्शेकदम पर चल रही हैं, जिन्होंने 22 साल पहले टॉनटन में इंग्लैंड के खिलाफ ड्रा टेस्ट में 407 गेंदों पर 214 रन बनाए थे। शेफाली की पारी आक्रामक बल्लेबाजी का नमूना थी, जिसमें 23 चौके और आठ गगनचुम्बी छक्के शामिल थे। उन्होंने ऑफ स्पिनर डेलमी टकर की गेंदों पर लगातार छक्के और फिर एक रन लेकर 200 रन का आंकड़ा छू लिया और रिकॉर्ड बुक में अपना नाम दर्ज करा लिया।

यह भी पढ़ें- Vaishvik Hindu Rashtra Mahotsav: ‘वक्फ बोर्ड की तरह हिंदू मंदिरों के लिए सर्वाधिकार देने वाला ‘मंदिर बोर्ड’ स्थापित करें’ – अधिवक्ता विष्णु जैन

युवा ओपनर की असाधारण पारी
युवा ओपनर की असाधारण पारी का अंत तब हुआ जब वह अपनी साथी जेमिमा रोड्रिग्स के साथ हुई गलतफहमी के कारण 197 गेंदों पर 205 रन बनाकर रन आउट हो गईं। शैफाली महिला टेस्ट पारी में किसी भारतीय द्वारा सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर दर्ज करने से चूक गईं और विश्व रिकॉर्ड तोड़ने से 38 रन से चूक गईं। पाकिस्तान की महिला किरण बलूच ने 2004 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 242 रन बनाकर टेस्ट पारी में सर्वाधिक रन बनाने का रिकॉर्ड कायम रखा है। शेफाली का 205 रन महिला टेस्ट में सातवां सबसे बड़ा स्कोर है।

यह भी पढ़ें- ED Arrests: अंतरराष्ट्रीय ड्रग तस्करी सिंडिकेट मामले में ईडी की बड़ी कार्रवाई, डीएमके निष्कासित जाफर सादिक गिरफ्तार

भारत के लिए शानदार शुरुआत
शेफाली के शानदार प्रदर्शन में उनकी सलामी जोड़ीदार स्मृति मंधाना ने भी उतनी ही आक्रामक पारी खेली। मंधाना ने 161 गेंदों पर 27 चौके और एक छक्का लगाकर 149 रन बनाए। दोनों ने मिलकर 52 ओवर में 292 रनों की शानदार ओपनिंग साझेदारी की। इस तरह भारतीय जोड़ी ने महिला टेस्ट क्रिकेट में सबसे बड़ी ओपनिंग साझेदारी भी दर्ज की। शैफाली और मंधाना ने 2004 में कराची में वेस्टइंडीज के खिलाफ पाकिस्तान की साजिदा शाह और किरण बलूच द्वारा की गई 241 रनों की ओपनिंग साझेदारी को पीछे छोड़ दिया, यह वही पारी थी जिसमें बलूच ने महिला टेस्ट में सर्वोच्च व्यक्तिगत स्कोर बनाया था। शैफाली, वर्मा, भारत, शैफाली वर्मा, शैफाली वर्मा टीम इंडिया, मंधाना ने प्रोटियाज के खिलाफ वनडे सीरीज में भी शानदार प्रदर्शन किया था, जहां उन्होंने दो शतक और एक अर्धशतक जड़कर भारत को 3-0 से सीरीज में जीत दिलाई थी।

यह वीडियो भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.