पश्चिम रेलवे का जांच अभियानः बेटिकट यात्रियों से वूसल किया रिकॉर्ड जुर्माना

पश्चिम रेलवे के सभी मंडलों ने टिकट जांच के प्रदर्शन में उल्लेखनीय योगदान दिया है।

पश्चिम रेलवे अनधिकृत यात्रा पर रोक लगाने के लिए नियमित टिकट जांच अभियान चला रहा है। लगभग 2072 टिकट जांच कर्मचारियों की संख्या के साथ अनियमित यात्रा के विरुद्ध इन गहन अभियानों से पश्चिम रेलवे को 25.98 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं।

पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुमित ठाकुर के अनुसार, मार्च 2022 से पश्चिम रेलवे टिकट जांच से एकत्र किए गए उच्चतम जुर्माने के स्वयं के रिकॉर्ड को पार कर रहा है, जैसे मार्च 2022 में 19.35 करोड़ रुपये, अप्रैल 2022 में 21.82 करोड़ रुपये और मई 2022 में 25.98 करोड़ रुपये जो कि मार्च 2022 की तुलना में 34% अधिक है। मई 2022 में किए गए जांच के दौरान बिना बुक किए सामान के मामलों सहित टिकट रहित व अनियमित यात्रा के लगभग 3.64 लाख मामलों का पता चला, जिसके परिणामस्वरूप 25.98 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड वसूली हुई।

ये भी पढ़ें – इस गैंग ने दी थी सलमान खान को धमकी, गिरफ्तार महाकाल ने किया खुलासा

मई 2022 के दौरान पश्चिम रेलवे के मुंबई मंडल ने इतिहास रचा और इस महीने में किए गए जांच अभियान के दौरान टिकट जांच के जुर्माने में 12.25 करोड़ रुपए की रिकॉर्ड प्राप्ति हुई। यह एक बड़ी उपलब्धि है, क्योंकि यह मई 2022 के महीने के लिए निर्धारित 1.26 करोड़ रुपए लक्ष्य से 871% अधिक है। मुख्यालय के 22 कर्मचारियों के उड़न दस्ते की टीम ने 2 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूल किया, जिसमें प्रति कर्मचारी प्रतिदिन औसतन 38000 रुपये से अधिक का जुर्माना प्राप्त हुआ।

पश्चिम रेलवे के अन्य सभी मंडलों ने भी टिकट जांच के प्रदर्शन में उल्लेखनीय योगदान दिया है। अहमदाबाद और भावनगर डिवीजन मंडलों ने भी मई 2022 के महीने में पिछले पांच वर्षों के दौरान अब तक का सर्वाधिक मासिक जुर्माना वसूला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here