मवेशी तस्करी मामला : अणुव्रत के इस करीबी पार्षद को सीबीआई ने दबोचा

बोलपुर के सूड़ीपाड़ा में 19 नंबर वार्ड के पार्षद विश्वजीत बनर्जी के घर सबसे पहले सीबीआई के चार अधिकारी पहुंचे। यहां केंद्रीय अधिकारियों के साथ सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ के जवान मौजूद थे।

पश्चिम बंगाल के मवेशी तस्करी मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने 31 अगस्त को करीब दो घंटे तक तलाशी अभियान चलाने के बाद सीबीआई ने बोलपुर नगर पालिका के 19 नंबर वार्ड के पार्षद विश्वजीत बनर्जी को हिरासत में ले लिया है। विश्वजीत को फिलहाल एक चार्टर्ड एकाउंटेंट के कार्यालय में ले जाया गया है। यहां पार्षद के साथ उनके नाम की संपत्तियों की जांच की जाएगी।

फ़िलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि उन्हें इसके बाद कहां ले जाया जाएगा और सीबीआई क्या कार्रवाई करेगी। छापेमारी बीरभूम जिले के बोलपुर में सुबह सात बजे हुई है।

इस तरह दबाचो गया पार्षद
बोलपुर के सूड़ीपाड़ा में 19 नंबर वार्ड के पार्षद विश्वजीत बनर्जी के घर सबसे पहले सीबीआई के चार अधिकारी पहुंचे। यहां केंद्रीय अधिकारियों के साथ सुरक्षा के लिए सीआरपीएफ के जवान मौजूद थे। उनके घर से थोड़ी ही दूरी पर तृणमूल के नेता सुदीप रॉय और बोलपूर वकील पट्टी में अणुव्रत के करीबी दोलन कुमार डे, बिजनेसमैन सुजीत डे और अणुव्रत मंडल के अकाउंटेंट मनीष कोठारी के घर पर भी सीबीआई ने छापेमारी की है।

ये है आरोप
सूत्रों ने बताया है तस्करी मामले से ये सभी जुड़े रहे हैं और इससे हासिल होने वाले अरबों रुपये के हेर-फेर में इनकी भूमिका संदिग्ध रही है। एक दिन पहले सीबीआई ने जेल में जाकर अणुव्रत मंडल से पूछताछ की थी। सूत्रों के अनुसार के अनुसार उन्हीं से पूछताछ के बाद इन तीनों के बारे में पूख्ता जानकारी मिली है जिसके बाद छापेमारी की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here