Land Jihad: उत्तन के लैंड जिहाद मामले में आया अपडेट, जानिए आगे क्या होगी कार्रवाई?

उत्तन डोंगरी में बालेशाह पीर दरगाह का सरकारी जमीन पर कब्जा कर दरगाह के अवैध निर्माण को हटवाने के लिए खुश खंडेलवाल द्वारा मुंबई उच्च न्यायालय में दायर जनहित याचिका में राज्य सरकार और प्रशासन ने जवाब दायर कर दिया है।

676

मुंबई (Mumbai) से सटे भायंदर (Bhayandar) इलाके में अल्पसंख्यक (Minority) लोगों द्वारा अवैध कब्जे (Illegal Occupation) की कई खबरें आती रहती हैं। लेकिन, प्रशासन (Administration) इस पर क्या कार्रवाई करता है, इसके बारे में कम ही जानकारी उपलब्ध है। हाल ही में उत्तन डोंगरी स्थित सरकारी जमीन सर्वे न. 2 क्षेत्र 10 हजार वर्ग फुट व सरकारी जमीन सर्वे न. 37 क्षेत्र 57 हेक्टयर पर बालेशाह पीर दरगाह ट्रस्ट ने अतिक्रमण कर करीब 70 हजार चौ. फुट पर घेराव कर दरगाह का अवैध निर्माण किया है।

अधिवक्ता खुश खंडेलवाल (Advocate Khush Khandelwal) ने पिछले वर्ष 28 नवंबर 2023 को दरगाह के अतिक्रमण को हटवाने के लिए एक लिखित शिकायत जिल्हाधिकारी ठाणे व अपर तसिलदार मीरा भायंदर को प्रेषित की थी।

यह भी पढ़ें- Lok Sabha Election: झारखंड से पीएम मोदी ने विपक्ष पर साधा निशाना, बोले- पाकिस्तान चाहता है राहुल गांधी बनें प्रधानमंत्री

अधिकारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की मांग
उत्तन डोंगरी में बालेशाह पीर दरगाह का सरकारी जमीन पर कब्जा कर दरगाह के अवैध निर्माण को हटवाने के लिए खुश खंडेलवाल द्वारा मुंबई उच्च न्यायालय में दायर जनहित याचिका में राज्य सरकार और प्रशासन ने जवाब दायर कर दिया है। खुश खंडेलवाल की जनहित याचिका में खंडेलवाल ने प्रशासकीय अधिकारियों की दरगाह के अवैध निर्माण को हटाने में निष्क्रियता को लेकर इन अधिकारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की भी मांग की है।

कानूनन संघर्ष की शुरुवात
मीरा भायंदर में अन्य स्थानों पर जहाँ इसी तरह के अवैध निर्माण किए गए है इन सभी अवैध निर्माणों को कानूनन मार्ग से हटवाने के लिए खुश खंडेलवाल द्वारा अब कानूनन संघर्ष की शुरुवात की जा रही है।

देखें यह वीडियो- 

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.