Sikkim: बादल फटने से दो पुल बहे, सेना के 23 जवान लापता

जनसंपर्क अधिकारी ने एक्स पर कहा है कि उत्तरी सिक्किम में ल्होनक झील (Lhonak Lake) के ऊपर अचानक बादल फटने से लाचेन घाटी में तीस्ता नदी में अचानक बाढ़ आ गई। घाटी में कुछ सैन्य प्रतिष्ठान प्रभावित हुए हैं। विवरण की पुष्टि करने के प्रयास जारी हैं।

82

सिक्किम (Sikkim) में ल्होनक झील पर बादल फटने (cloudburst) से भारी तबाही हुई है। इस वजह से लाचेन घाटी में तीस्ता नदी (Teesta River) का जलस्तर अचानक बढ़ गया है। इस बाढ़ में सेना के 23 जवानों (23 soldiers) के लापता होने की आशंका है। यह सूचना असम की राजधानी गुवाहाटी में रक्षा मंत्रालय के जनसंपर्क अधिकारी ने एक्स हैंडल पर साझा की है।

जनसंपर्क अधिकारी ने एक्स पर कहा है कि उत्तरी सिक्किम में ल्होनक झील (Lhonak Lake) के ऊपर अचानक बादल फटने से लाचेन घाटी में तीस्ता नदी में अचानक बाढ़ आ गई। घाटी में कुछ सैन्य प्रतिष्ठान प्रभावित हुए हैं। विवरण की पुष्टि करने के प्रयास जारी हैं। 23 कर्मियों के लापता होने और कुछ वाहनों के डूब जाने की सूचना है।

पूरी तरह क्षतिग्रस्त हुए दो स्थायी पुल 
उन्होंने कहा है कि उत्तरी सिक्किम के मुगुथांग में आई बाढ़ से डिकचू और टूंग में दो स्थायी पुल पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए। बीआरओ के कर्मयोगी ने राहत और बचाव कार्य शुरू किया है। इससे पहले जनसंपर्क अधिकारी ने कहा था कि चुंगथांग बांध से पानी छोड़े जाने के कारण नीचे की ओर 15-20 फीट की ऊंचाई तक जलस्तर अचानक बढ़ गया है। इसके कारण सिंगतम के पास बारदांग में खड़े सेना के वाहन प्रभावित हो रहे हैं।

यह भी पढ़ें – जानिए अपने शहर में पेट्रोल और डीजल के नए भाव

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.