पुणे का सिंघम: कोयता वाले गुंडे का करेक्ट कार्यक्रम

पुणे के सिंघम ने वीरता का ऐसा डंका बजाया है कि, लोगों ने सोशल मीडिया पर वाह वाही करके शिखर पर पहुंचा दिया है।

पुणे के भारती विद्यापीठ व सिंहगड रोड पर दो बदमाश दहशत फैला रहे थे। उन दोनों के हाथों में कोयता था, जिससे लोगों की दुकानों, गाड़ियों और लोगों पर अंधाधुंध हमला कर रहे थे। इसकी सूचना घबराए लोगों ने पुलिस नियंत्रण कक्ष को दे दी। जिसके बाद वहां मोटर साइकिल पर दो पुलिस कांस्टेबल पहुंचे और उसके बाद दोनों गुंडों का ऐसा करेक्ट कार्यक्रम किया कि, जनता ने पुणे पुलिस के सिंघम का तालियों से स्वागत किया।

भारती विद्यापीठ व सिंहगड सड़क पर गुरुवार को गतिविधियां सामान्य रूप से चल रही थी। इस बीच दो युवक हाथों में कोयता लहराते हुए पहुंचे। उन्होंने पहला निशाना बनाया फेरीवालों को, इसके बाद कारों को रोक कर हमला कर दिया। वहां से निकलने के बाद दुकानों में घुसकर तोड़फोड़ कर दिया। इससे सड़क पर भागमभाग मच गई थी। इस बीच किसी ने पुलिस नियंत्रण कक्ष को सूचित कर दिया।

ये भी पढ़ें – योग का नाम,आतंक का काम? एनआईए के आरोप पत्र में उठा पीएफआई की देश विरोधी गतिविधियों पर से पर्दा

कर दिया करेक्ट कार्यक्रम
पुलिस नियंत्रण कक्ष को जानकारी मिलते ही पास में गश्त कर रहे दो पुलिस कांस्टेबल को वहां भेजा। दोनों पुलिस वालों के पहुंचते ही कोयता वाले गुंडे भागने लगे। जिसमें से एक को दौड़ा कर कांस्टेबल ने काबू में किया। पुलिस कांस्टेबल ने अपने डंडे से जब समझाना शुरू किया तो कोयता वाले गुंडे की गुंडई गुल हो गई। एक-दो-तीन-चार और गुंडा भाई सड़क पर ढेर हो गया। दोनों कांस्टेबल ने अपने ऊपर संभावित हमले की चिंता न करते हुए, गुंडे के पैरों पर प्रहार कर सड़क पर लिटा दिया। यह देखते ही अपनी जान बचाने के लिए छुपे हुए लोग सड़कों पर निकल आए और दोनों कांस्टेबल की वीरता पर तालियां बजाने लगे। इसकी सूचना मिलते ही दोनों कांस्टेबलों का सामाजिक लोगों ने सम्मान भी किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here