Phone Tapping Case: अमेरिका में है फोन टैपिंग मामले का मुख्य आरोपी तेलंगाना का पूर्व इंटेल प्रमुख: सूत्र

गिरफ्तारी से बच रहे प्रभाकर राव पर आरोप है कि जब भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) सरकार सत्ता में थी, तब वह विपक्षी नेताओं के फोन टैप करने में शामिल थे।

138

Phone Tapping Case: सूत्रों के मुताबिक तेलंगाना (Telangana) फोन टैपिंग मामले (Phone Tapping Case) में एक प्रमुख आरोपी (main accused), पूर्व राज्य खुफिया प्रमुख (former state intelligence chief) टी प्रभाकर राव (T Prabhakar Rao) कथित तौर पर चिकित्सा उपचार (medical treatment) की आड़ में अमेरिका में हैं।

गिरफ्तारी से बच रहे प्रभाकर राव पर आरोप है कि जब भारत राष्ट्र समिति (बीआरएस) सरकार सत्ता में थी, तब वह विपक्षी नेताओं के फोन टैप करने में शामिल थे। उन पर पिछले साल विधानसभा चुनाव परिणाम कांग्रेस के पक्ष में आने पर सबूत नष्ट करने का प्रयास करने का भी आरोप है।

यह भी पढ़ें- Bihar: बिहार में भ्रष्टाचार के प्रतीक बन गये हैं तेजस्वी यादव: नित्यानंद राय

राव की संलिप्तता का संदेह
अधिकारियों को के.चंद्रशेखर राव शासन काल के राजनीतिक दिग्गजों को इस घोटाले से जोड़ने में राव की संलिप्तता का संदेह है। पुलिस ने हाल ही में प्रभाकर राव के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर (एलओसी) जारी किया था। इस बीच, हैदराबाद पुलिस ने फोन टैपिंग ऑपरेशन को अंजाम देने में उनकी कथित भूमिका के लिए पूर्व पुलिस उपायुक्त राधा किशन राव को गिरफ्तार कर लिया। उनसे 10 घंटे से ज्यादा समय तक पूछताछ की गई.

यह भी पढ़ें- Lawrence Bishnoi case: ईडी ने गैंगस्टर सुरेंद्र सिंह के रिश्तेदारों की ‘इतने’ करोड़ रुपये कि संपत्ति की कुर्क, जानें पूरा प्रकरण

प्रमुख लोगों की गिरफ्तारी
जांच में पहले ही कई प्रमुख लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, जिनमें पुलिस उपाधीक्षक प्रणीत राव, साथ ही अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भुजंगा राव और वरिष्ठ पुलिस तिरुपथन्ना शामिल हैं। उनके खिलाफ एक लोक सेवक द्वारा आपराधिक विश्वासघात, सबूतों को गायब करने, आपराधिक साजिश रचने और आईपीसी, पीडीपीपी अधिनियम और आईटी अधिनियम 2000 की अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

यह भी देखें-

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.