Pakistan: आतंकी हमले में 25 सैनिकों की मौत, इस संगठन ने ली जिम्मेदारी

तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) से संबद्ध एक नए समूह तहरीक-ए-जिहाद पाकिस्तान (टीजेपी) ने चेकपोस्ट पर हमले की जिम्मेदारी ली है।

380

पाकिस्तान (Pakistan) में एक आतंकी घटनाओं में 25 जवानों की मौत (25 soldiers killed) हो गई है, वहीं सेना की मीडिया मामलों की शाखा ने तीन अलग-अलग मामलों में पिछले 24 घंटों के दौरान 27 आतंकियों को मार (27 terrorists killed) गिराने का दावा किया है।

सेना की मीडिया मामलों की शाखा ने कहा कि खैबर पख्तूनख्वा के डेरा इस्माइल खान में तीन अलग-अलग घटनाओं में पाकिस्तानी सेना के 25 सैनिक शहीद हो गए जबकि 27 आतंकवादी मारे गए। इंटर-सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस (आईएसपीआर) के अनुसार, 11 और 12 दिसंबर की रात को जिले में “बढ़ी गतिविधियां” देखी गईं।

छह आतंकवादियों के समूह ने किया हमला
आईएसपीआर ने कहा कि तड़के छह आतंकवादियों के एक समूह ने दरबान जनरल इलाके में सुरक्षा बलों की एक जांच चौकी पर हमला किया। उनके हमले के प्रयास को प्रभावी ढंग से विफल करने के बाद आतंकवादियों को विस्फोटक से भरे वाहन को पोस्ट में घुसाने के लिए मजबूर होना पड़ा, जिसके बाद एक आत्मघाती बम हमला हुआ। जिसके चलते 23 सैनिक शहीद हो गए।

चलाया जा रहा खोजी अभियान
क्षेत्र में घुसपैठ करने वाले आतंकवादियों को समाप्त करने के लिए खोजी अभियान चलाया जा रहा है। आईएसपीआर ने कहा, पाकिस्तान के सुरक्षा बल देश से आतंकवाद के खतरे को खत्म करने के लिए दृढ़ हैं और हमारे बहादुर सैनिकों के ऐसे बलिदान हमारे संकल्प को और मजबूत करते हैं।

टीजेपी ने हमले की जिम्मेदारी
तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) से संबद्ध एक नए समूह तहरीक-ए-जिहाद पाकिस्तान (टीजेपी) ने चेकपोस्ट पर हमले की जिम्मेदारी ली है। इसके प्रवक्ता मुल्ला कासिम ने इस हमले को आत्मघाती मिशन (फिदायीन हमला) करार दिया।

कई घायल की हालत गंभीर
आधिकारियों ने बताया कि सुरक्षा बलों ने सभी हमलावरों को मार गिराया जबकि पुलिस की नयी टुकड़ियों को घटनास्थल पर भेजा गया और बाद में तलाशी अभियान शुरू किया गया। पुलिस ने कहा कि मृतक संख्या बढ़ने की आशंका है क्योंकि हमले में घायल कई लोगों की हालत गंभीर है। हमले के कारण जिले के अस्पतालों में आपातकाल घोषित कर दिया गया जबकि सभी स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए। पाकिस्तान में कुछ बड़े हमलों के पीछे इस आतंकी संगठन का हाथ रहा है।

टीजेपी पहले भी कर चुका है हमला
इससे पहले चार नवंबर को टीजेपी आतंकवादियों ने लाहौर से लगभग 300 किलोमीटर दूर पाकिस्तान वायु सेना के मियांवाली प्रशिक्षण वायुसेना अड्डे पर हमला किया था, जिसमें तीन विमान क्षतिग्रस्त हो गए। देश में तीन अलग-अलग आतंकी हमलों में 17 सैनिकों के मारे जाने की घटना के एक दिन बाद हुई सेना की कार्रवाई में सभी हमलावर मारे गए।(हि.स.)

यह भी पढ़ें – T20 match: दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 5 विकेट से हराया

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.