Newsclick: छापों का औचित्य साबित करने की आवश्यकता नहीं- अनुराग ठाकुर

विदेशी फंडिंग के आरोप में न्यूज वेबसाइट 'न्यूज क्लिक '(News Click) से जुड़े एनडीटीवी के पूर्व प्रबंध संपादक औनिंद्यो चक्रवर्ती, उर्मिलेश, अभिसार शर्मा (Abhisar Sharma) और तीस्ता सीतलवाड़ के घरों पर दिल्ली पुलिस ने छापेमारी की।

121

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की तरफ से 03 अक्टूबर की सुबह न्यूज पोर्टल न्यूजक्लिक (Newsclick) से जुड़े पत्रकारों के घरों पर छापेमारी के बाबत केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) का बयान आया है। भुवनेश्वर में एक पत्रकार वार्ता में केन्द्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि जांच एजेंसियां (investigating agencies) स्वतंत्र हैं। वह नियमों के अनुसार काम करती हैं। इन छापों का औचित्य (justification for raids) साबित करने की आवश्यकता नहीं है। अगर किसी ने कुछ भी गलत किया होगा तो निर्धारित नियमों के तहत जांच एजेंसियां उसके खिलाफ जांच और कार्रवाई करने के लिए स्वतंत्र हैं।

पत्रकारों की गिरफ्तारी नहीं
हालांकि दिल्ली पुलिस ने यह स्पष्ट कर दिया है कि किसी भी पत्रकार को गिरफ्तार नहीं किया गया है। स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि न्यूज क्लिक के खिलाफ केंद्रीय जांच एजेंसी की यह कार्रवाई किसी मीडिया संगठन पर होने वाली अपनी तरह की पहली कार्रवाई है। इस छापेमारी से पहले, प्रवर्तन निदेशालय (Ed) ने न्यूज़क्लिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया था, जिसमें न्यूज पोर्टल पर विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम (FCRA) का उल्लंघन करते हुए विदेशी फंडिंग प्राप्त करने का आरोप लगाया गया था।

इन पत्रकारों के घर पर हुई छापेमारी
विदेशी फंडिंग के आरोप में न्यूज वेबसाइट ‘न्यूज क्लिक ‘(News Click) से जुड़े एनडीटीवी के पूर्व प्रबंध संपादक औनिंद्यो चक्रवर्ती, उर्मिलेश, अभिसार शर्मा (Abhisar Sharma) और तीस्ता सीतलवाड़ के घरों पर दिल्ली पुलिस ने छापेमारी की। पुलिस ने इस दौरान संजय राजौरा, भाषा सिंह, उर्मिलेश, अभिसार शर्मा और सोहेल हाशमी मोबाइल फोन और लैपटॉप जब्त कर लिए हैं।

न्यूज क्लिक से जुड़ा क्या है मामला
डिजिटल मीडिया प्लेटफॉर्म न्यूज क्लिक के ऊपर विदेशी फंडिंग (foreign funding) का केस दर्ज हुआ है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल से पहले ईडी भी न्यूज क्लिक के ऑफिस और इससे जुड़े लोगों के यहां छापेमारी कर चुकी है। ईडी ने बताया था न्यूज़ क्लिक को विदेशों से लगभग 38 करोड़ रुपए की फंडिंग हुई थी। जिसके बाद भाजपा ने आरोप लगाया था कि वर्ष 2005 से 2014 के बीच कांग्रेस को भी चीन से बहुत सारा पैसा मिला है। इतना ही नहीं गत दिनों न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में भी बताया गया था कि न्यूज क्लिक को विदेशी फंडिंग से करोड़ों रुपए मिले थे।

यह भी पढ़ें – Rajasthan: न्यायपालिका में भ्रष्टाचार के बयान पर आखिर सीएम ने मांगी माफी, दी ये सफाई

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.