आफताब जैसा एक और कांड, सौतेले बेटे ने पिता के किए 22 टुकड़े! जानिये, क्या है कारण

आरोपित बेटे ने पिता के शव के टुकड़ों को अलग अलग स्थानों पर फेंका था। उसने भरसक प्रयास किया कि ऐसी जगह पर टुकड़े फेंके जाएं, जहां चील-कौए आसानी से उसे अपना ग्रास बना सकें।

नई दिल्ली के पांडव नगर हत्याकांड में दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने एक बड़ा खुलासा किया है। पुलिस ने दावा किया है कि पांडव नगर में रहने वाले एक अधेड़ उम्र के व्यक्ति का उसके सौतेले बेटे की पत्नी के साथ अवैध संबंध थे। इसकी जानकारी होने पर सौतेले बेटे ने अपनी मां के साथ मिलकर ना केवल उसकी हत्या कर दी, बल्कि शव के 22 टुकड़े कर फ्रिज में रख दिया। उसके बाद धीरे-धीरे वह शव के टुकड़ों को अलग-अलग स्थानों पर फेंक दिया। पुलिस ने आरोपित से पूछताछ के दौरान और भी कई संवेदनशील तथ्यों को उजागर किया है। हालांकि इसे चार्जशीट का विषय बताकर सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है। अपराध शाखा ने पुलिस मुख्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान यह जानकारी दी।

पुलिस ने बताया कि आरोपितों की पहचान दीपक और उसकी मां पूनम के रूप में हुई है। आरोपित बेटे दीपक ने बताया कि उसकी मां ने कई शादियां की थीं। अंतिम शादी उसने अंजन दास से की। जबकि वह अंजन दास से पहले वाले पिता कल्लू का बेटा है। उसने बताया कि अंजन ने भी चार-पांच शादियां की थीं। इसके अलावा भी कई महिलाओं से उसके अवैध संबंध थे। यहां तक कि घर के अंदर उसके सौतेले पिता ने उसकी पत्नी पर भी डोरे डाल रखे थे। उसे मामले की जानकारी हुई तो उसने अपनी मां से बात की और फिर पिता को नशीली गोलियां दे दी। जब वह नशे में धुत हो गया तो उसने पिता की हत्या कर दी। चूंकि वह पूरा शव एक बार में घर से बाहर निकाल कर ठिकाने नहीं लगा सकता था, इसलिए उसने मां के साथ मिलकर शव के 22 टुकड़े किए और अलग अलग स्थानों पर फेंक दिया।

पूछताछ में हुआ खुलासा
पूछताछ में आरोपित ने बताया कि उसने अपने पिता की हत्या तो कर दी, लेकिन शव काटने की हिम्मत नहीं हो रही थी। ऐसे में उसने खुद भी उन्हीं नशीली गोलियों का सहारा लिया और फिर नशे की हालत में ही शव के टुकड़े करता चला गया। पुलिस ने बताया कि पहली बार 30 मई को अंजन दास के शव के टुकड़े मिले थे। कुछ सीसीटीवी फुटेज भी पुलिस को मिले है। इन्हीं फुटेज के आधार पर मामले की जांच करते हुए पुलिस ने आखिर आरोपित मां बेटे को दबोच लिया है। अब पुलिस ने अंजन दास का डीएनए प्रोफाइलिंग कराने का फैसला किया है।

शव के टुकड़ों को फ्रिज में रखा
पूछताछ में आरोपित ने आगे बताया कि वारदात की रात में ही उसने शव के टुकड़े टुकड़े तो कर दिए। उसी दिन एक टुकड़े को फेंक भी दिया, लेकिन अगले दिन की रात होने के इंतजार में इन टुकड़ों से बदबू उठने लगी। ऐसे में एक टुकड़ा बाहर रखकर बाकी टुकड़ों को उसने फ्रिज में रख दिया। अंधेरा होने के बाद उसने बाहर रखे टुकड़े को ले जाकर ठिकाने लगा दिया।

शव के टुकड़े फेंकते समय रखा इस बात का ध्यान
आरोपित बेटे ने पिता के शव के टुकड़ों को अलग अलग स्थानों पर फेंका था। इन टुकड़ों को फेंकने के लिए स्थान भी बहुत सोच-समझकर चुना था। उसने भरसक प्रयास किया कि ऐसी जगह पर टुकड़े फेंके जाएं, जहां चील-कौए आसानी से उसे अपना ग्रास बना सकें। इसके अलावा उसने कुछ टुकड़े नाले में भी फेंके थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here