New Delhi: प्रदूषण ने जीना किया मुश्किल, जानिये सांस के मरीजों में कितनी हुई वृद्धि

प्रदूषण से संबंधित बीमारियों के लिए एक विशेष ओपीडी की शुरुआत की जा रही है। इस विशेष ओपीडी में सांस से संबंधित मरीजों को डॉक्टरी सलाह और उनकी व्यापक देखभाल दी जा सकेगी।

315

दिल्ली में एक बार फिर प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी में पहुंच गया है। इससे नाक, कान और गले (ईएनटी) से संबंधित शिकायतें बढ़ने लगी हैं। अस्पतालों में प्रदूषण के कारण श्वसन तंत्र और आंख से संबंधित मरीजों की संख्या में 30 फीसदी का इजाफा हुआ है। इसे देखते हुए दिल्ली के राम मनोहर लोहिया (आरएमएल) अस्पताल में मरीजों के लिए विशेष ओपीडी की शुरुआत करने जा रही है।

बीमारों के लिए विशेष ओपीडी
आरएमएल अस्पताल के निदेशक डॉ अजय शुक्ला ने बताया कि प्रदूषण से संबंधित बीमारियों के लिए एक विशेष ओपीडी की शुरुआत की जा रही है। इस विशेष ओपीडी में सांस से संबंधित मरीजों को डॉक्टरी सलाह और उनकी व्यापक देखभाल दी जा सकेगी। उन्होंने बताया कि इस विशेष ओपीडी में एक बहु-विभागीय क्लिनिक भी शामिल होगा, जिसमें पांच विभाग शामिल होंगे। इसमें ईएनटी, त्वचा, श्वसन तंत्र, नेत्र और मनोरोग विभाग को शामिल किया गया है। यह ओपीडी सोमवार दोपहर 2 बजे से शाम 4 बजे तक चलेगी।

Madhya Pradesh elections: भाजपा ने चुनाव आयोग से की कमलनाथ की शिकायत, ये है प्रकरण

Join Our WhatsApp Community
Get The Latest News!
Don’t miss our top stories and need-to-know news everyday in your inbox.