लव जिहादः दोस्ती से मना करने पर नाबालिग हिंदू छात्रा के साथ शाहरुख ने कर दिया ऐसा

अंकिता के परिजन अविनाश का आरोप है कि करीब 22 दिन पहले आरोपित ने घर पर पत्थरबाजी की थी।

झारखंड के दुमका जिले के नगर थाना क्षेत्र की जरूवाडीह निवासी इंटरमीडिएट की छात्रा अंकिता सिंह की 27 अगस्त की देर रात रिम्स में उपचार के दौरान मौत हो गई। अंकिता नाबालिग थी। 23 अगस्त को एकतरफा प्यार में पागल पड़ोसी युवक शाहरुख हुसैन ने खिड़की से अंकिता पर पेट्रोल डालकर आग लगा दी थी। इस घटना में वह गंभीर रूप से झुलस गई थी। पहले उसका इलाज दुमका के फूलो झानो मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चला। बाद में उसे रिम्स रेफर किया गया। रिम्स में 27 अगस्त की देर रात उसकी मौत हो गई।

पीड़िता के परिजनों का आरोप
अंकिता के परिजन अविनाश का आरोप है कि करीब 22 दिन पहले आरोपित ने घर पर पत्थरबाजी की थी। इससे खिड़की के शीशे टूट गये थे। वह लगातार अंकिता को तंग कर रहा था। अंकिता के दो बहनें और एक भाई हैं। पिता मार्केटिंग का काम करते है। अंकिता की मां करीब डेढ़ वर्ष पहले गुजर गई थीं।

लड़की ने दोस्ती करने से कर दिया था इनकार
अविनाश ने आरोप लगाया है कि अंकिता ने इस लड़के से दोस्ती करने से इनकार कर दिया था। अंकिता की सहेली से शाहरुख हुसैन ने उसका मोबाइल नंबर हासिल कर लिया था। वह लगातार उस पर दोस्ती करने का दबाव बना रहा था। उसने दोस्ती न करने पर जान से मारने की धमकी भी दी थी। टाउन थाना पुलिस का कहना है कि आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here