हनी ट्रैप में लोगों को फंसाने वाले खुद पुलिस ट्रैप में फंसे! पढ़िये, पूरी अपराध कथा

किशनगढ़ रेनवाल निवासी पुलिस ने जाल बिछाकर एक 50 वर्षीय महिला एवं दो युवतियों को एक युवक से 1 लाख रुपये लेते रंगे हाथों पकड़ लिया।

किशनगढ़ रेनवाल निवासी एक युवक को अनजान कॉल पर युवती से बातें करना महंगा पड़ गया। युवती ने युवक को जीजाजी कहकर अपनी बातों में उलझाया और उसे खाटू श्याम जी मिलने के लिए बुला लिया। जहां युवती उस युवक को एक होटल में ले गई। अगले दिन महिला की मां की तरफ से युवक को कॉल आया और ढाई लाख रुपए की मांग की गई। खाटूश्यामजी थाना पुलिस ने जाल बिछाकर एक 50 वर्षीय महिला एवं दो युवतियों को युवक से 1 लाख रुपये लेते रंगे हाथों पकड़ लिया।

युवक पर लगाया दुष्कर्म का आरोप
सीकर पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने बताया कि किशनगढ़ रेनवाल जिला जयपुर ग्रामीण निवासी 32 वर्षीय युवक राम सिंह ने थाना खाटू श्याम जी में एक परिवाद दिया, जिसमें बताया कि 30 अप्रैल को उसके पास अनजान नंबर से एक युवती का कॉल आया। जिसने उसे जीजाजी संबोधित कर पहचानने के लिए कहा। नहीं पहचानने पर सुमन नाम बता कर खाटूश्यामजी मिलने के लिए बुलाया। उसी दिन वह युवती से मिलने के लिये खाटूश्यामजी चला गया। खाटूश्यामजी में मिली युवती उसे एक होटल में ले गई। अगले दिन एक अन्य महिला ने युवक को कॉल कर अपने आपको सुमन की मां बताया और कहा कि कल तुम्हें और मेरी बेटी को मेरे जमाई ने देख लिया है, तुम आकर राजीनामा कर लो। जब वह युवक खाटूश्यामजी गया तो उन महिलाओं ने दुष्कर्म के झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर ढाई लाख रुपए मांगे।

ये भी पढ़ें – प्रधानमंत्री मोदी ने कनाडा में दिया वसुधैव कुटुंबकम का संदेश, भाषा को लेकर कही ये बात

पुलिस ने बिछाया जाल
इस पर खाटूश्यामजी थानाधिकारी रिया चौधरी ने एक जाल बिछाया। युवक को एक लाख देकर महिलाओं द्वारा बताई गई जगह मण्डा चौराहे पर भेजा। जैसे ही उन महिलाओं ने युवक से पैसे लिए पुलिस टीम ने उन्हें दबोच लिया। युवक से हनी ट्रैप के इस मामले में नारंगी देवी बावरिया पत्नी श्रवण लाल (50) निवासी सुंदरपुरा थाना रानोली सीकर, सुमन देवी बावरिया पत्नी सागर मल (20) निवासी चैनपुरा थाना खाटू श्याम जी तथा प्रेम देवी बावरिया पत्नी राजेश कुमार (20) निवासी बधाल थाना रेनवाल जिला जयपुर ग्रामीण को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार महिलाओं से पूछताछ में सामने आया कि ये महिलाएं किसी भी प्रतिष्ठित मॉल या दुकान से किसी के भी मोबाइल नंबर लेकर उन्हें कॉल करती है और अपनी बातों में फंसा कर या कोई रिश्ता निकालकर कहीं मिलने के लिए बुलाती है। उसके बाद शिकार को बात करने के बहाने होटल लेकर जाती हैं। बाद में रेप या अन्य झूठे मुकदमे में फंसाने की धमकी देकर पैसे की मांग की जाती है। पहले भी इन महिलाओं द्वारा कई अन्य जगह ऐसी वारदातों को अंजाम देना बताया, पर लोक लज्जा के कारण किसी भी पीड़ित ने मुकदमा दर्ज नहीं कराया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here